• Home
  • Jharkhand News
  • Giddi
  • रेलीगढ़ा दोतल्ला के 48 जर्जर क्वार्टरों को तुरंत खाली करने का मिला नोटिस
--Advertisement--

रेलीगढ़ा दोतल्ला के 48 जर्जर क्वार्टरों को तुरंत खाली करने का मिला नोटिस

रेलीगढ़ा परियोजना के सलाहकार समिति ने असुरक्षित 48 क्वार्टरों में रहने वालों को क्वार्टर खाली करने का नोटिस...

Danik Bhaskar | Jul 11, 2018, 02:35 AM IST
रेलीगढ़ा परियोजना के सलाहकार समिति ने असुरक्षित 48 क्वार्टरों में रहने वालों को क्वार्टर खाली करने का नोटिस मंगलवार को दिया। समिति के सदस्य सबसे पहले छत गिरने वाले ब्लाॅक के सीसीएल कर्मी मुन्ना राम, कमल सिंह घटवार, तुलसी दास, शुकरा करमाली, अरविंद सिंह, संजय घटवार को नोटिस दिया। दिए गए नोटिस में कहा गया है कि रेलीगढ़ा प्रबंधन द्वारा 48 क्वार्टरों को खतरनाक घोषित कर दिया गया है। ऐसे में उक्त क्वार्टरों में रहने वाले लोग अविलंब क्वार्टर खाली कर दें। अन्यथा किसी तरह की दुर्घटना होने पर इसकी जिम्मेवारी क्वार्टर में रहने वालों की होगी न कि प्रबंधन की। बताते हैं कि वर्ष 1990 में रेलीगढ़ा दोतल्ला में क्वार्टर का निर्माण हुआ है। इस दौरान विगत 15 दिन के भीतर उक्त क्वार्टर के ऊपरी तल्ला में रहने वाले उमेश करमाली व सीसीएल कर्मी मुन्ना राम की छत तथा प्लास्टर गिर गया था। इसके अलावा अन्य क्वार्टरों की स्थिति भी काफी जर्जर हो चुकी है। जिससे कभी भी दुर्घटना घट सकती है। इसे देखते हुए सलाहकार समिति ने सोमवार को ही रेलीगढ़ा दोतल्ला के 48 क्वार्टर में रहने वालों को नोटिस देकर खाली कराने का निर्णय लिया है। साथ ही क्वार्टर खाली नहीं करने वालों पर कानूनी कार्रवाई करने की भी बात कही गई है। इस अवसर पर उप कार्मिक प्रबंधक संतोष कुमार, सिविल इंजीनियर एसएन भास्कर, सुरक्षा पदाधिकारी जयलाल विश्वकर्मा, करुण सिंह, कमल सिंह घटवार, शाबीर अंसारी, धनेश्वर तुरी, अखिलेश सिंह, शंकर महतो आदि मौजूद थे।

क्वार्टर खाली करने का नोटिस देते रेलीगढ़ा सलाहकार समिति के सदस्य।