• Home
  • Jharkhand News
  • Giddi
  • आश्रितों की नौकरी और संडे रेस्ट पर रोक के विरोध में किया धरना-प्रदर्शन
--Advertisement--

आश्रितों की नौकरी और संडे रेस्ट पर रोक के विरोध में किया धरना-प्रदर्शन

बिहार कोलियरी कामगार यूनियन ने सोमवार को अलग-अलग मांगों को लेकर गिद्दी, रेलीगढ़ा, गिद्दी सी व गिद्दी वाशरी परियोजना...

Danik Bhaskar | Jul 03, 2018, 02:40 AM IST
बिहार कोलियरी कामगार यूनियन ने सोमवार को अलग-अलग मांगों को लेकर गिद्दी, रेलीगढ़ा, गिद्दी सी व गिद्दी वाशरी परियोजना कार्यालय के समक्ष प्रदर्शन किया। गिद्दी एसओएम कार्यालय में पांच, गिद्दी सी पीओ कार्यालय में छह, रेलीगढ़ा पीओ कार्यालय में दस सूत्री तथा गिद्दी वाशरी पीओ कार्यालय में आठ सूत्री मांग को लेकर प्रदर्शन किया गया। चारों स्थानों पर हुए प्रदर्शन स्थल पर सभा का भी आयोजन किया गया। सभा को संबोधित करते हुए नेताओं ने कहा कि सीसीएल प्रबंधन द्वारा मजदूरों को मिलने वाली सभी सुख-सुविधाओं में कटौती करने के विरोध में मजदूर अगर एकजुट नहीं हुए तो मजदूरों का अस्तित्व ही संकट में पड़ जाएगा।

नेताओं ने मजदूरों से एकजुट होकर लड़ाई लड़ने की अपील की। सभा के बाद एक प्रतिनिधिमंडल ने सभी परियोजना पदाधिकारी के नाम एक मांग पत्र कार्मिक मैनेजर को सौंपा। इसमें प्रबंधन द्वारा मृतक के आश्रितों को नौकरी पर रोक लगाने, संडे रेस्ट बंद करने, 9.5.0 के तहत मोनेटरी कंपंसेशन पर रोक लगाने, जमीन के बदले नौकरी पर रोक लगाने का विरोध जताते हुए फैसले को वापस लेने की मांग शामिल है। इसके अलावा कायाकल्प योजना का कार्य सही ढंग से कराने, मजदूरों को शुद्ध पेयजलापूर्ति कराने, गिद्दी वाशरी में मीडिया पावडर उपलब्ध कराने, सेवानिवृत्ति के दिन ही मजदूरों का ग्रेच्युटी, सीएमपीएफ व अन्य राशि भुगतान करने, गिद्दी सी को नया स्कूल बस देने, बिजली कटौती पर रोक लगाने, ओवर टाइम का काम कराने पर उसका पूरा भुगतान करने, रेलीगढ़ा कांटा घर के सामने असुरक्षित मार्ग को सुरक्षित करने आदि की मांग शामिल है। इस अवसर पर अरगडा क्षेत्रीय अध्यक्ष धनेश्वर तुरी, सचिव गौत्तम बनर्जी, जावेद परवेज, शंभु कुमार, संतोष दास, सेवक साव, नाथु राम, अशोक शर्मा, यासीन मिया, प्रेमचंद शर्मा, दशरथ करमाली, ललित सहाजरा, जगेश्वर राम, सियाराम साह, जितेंद्र बेदिया, रूपू गंझू, नरेश महतो, अमजद, शत्रुधन तांती, आरडी मांझी, सईद अंसारी, अखिलेश प्रसाद, तुलसी मांझी, जगदीश पासवान, भुनेश्वर साव, शहबान अंसारी, तापस चंद्र, परमेश्वर लोहार, गुजा ठाकुर, शशि धरण, बाली महली, प्रदेन उरांव, जयंती देवी आदि मौजूद थे।

गिद्दी वाशरी के कार्मिक मैनेजर को मांग पत्र देते बीसीकेयू नेता व अन्य।