• Home
  • Jharkhand News
  • Giridih
  • फाइलेरियामुक्त अभियान कल से शुरू होगा: सीएस
--Advertisement--

फाइलेरियामुक्त अभियान कल से शुरू होगा: सीएस

फाइलेरिया मुक्त गिरिडीह बनाने का अभियान गिरिडीह स्वास्थ विभाग की ओर से आगामी 2 अप्रेल से जिलें में शुरू किया...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 02:35 AM IST
फाइलेरिया मुक्त गिरिडीह बनाने का अभियान गिरिडीह स्वास्थ विभाग की ओर से आगामी 2 अप्रेल से जिलें में शुरू किया जाएगा। सिविल सर्जन डा रामरेखा सिंह, प्रभारी मलेरिया पदाधिकारी डा कमलेशर प्रसाद सिंह ओर जिला कार्यक्रम प्रबंधक राजवर्धन ने संयुक्त रूप से शनिवार को प्रेसवार्ता कर कहा कि आगामी 2 अप्रेल से शुरू होने वाले अभियान के दौरान शहरी क्षेत्र में 30 एनएसएस कार्यकर्ताओं को जिम्मेवारी दिया गया है। जिनके नेतृ्त्व में शहर के बस पड़ाव, रेलवे स्टेशन समेत सरकारी संस्थानों में बूथ लगाकर फाइलेरिया ग्रसित मरीजों को अलबेंडाजोल का खुराक देना है। इसके लिए स्वास्थ विभाग की ओर से पहले चरण में एएनएम, एमपी ओर सहियाओं के माध्यम से बूथ स्तर पर फाइलेरिया ग्रसित मरीजों को जहां अलबेंडाजोल का खुराक देना है। वहीं 3 व 4 प्रेल को डोर-टू-डोर अभियान चलाकर इन मरीजों को अलबेंडाजोल का खुराक दिया जाएगा। इस चार दिवसीय अभियान को लेकर 24 लाख 35 हजार 122 मरीजों को खुराक दिया जाना है। इसके लिए जिलें भर में 2 हजार 307 बूथों का गठन किया गया है। जबकि 4 हजार 645 दवा वितरक बनाएं गए है। वहीं 439 पर्यवेक्षक नियुक्त किए गए है। पूरे अभियान के क्रम में फाइलेरिया रोधी अभियान के जिला सन्वयक आत्मानंद कुमार के नेतृ्त्व में चलाया जाएगा। सीएस डा सिंह ने कहा कि खुराक 2 साल से कम आयु के बच्चों को नहीं देना है। जबकि 2 से 5 साल के बच्चें को डीईसी ओर अलबेंडाजोल का एक-एक गोली देना है। वहीं 6-14 साल के बच्चों को डीईसी का 2 गोली व अलबेंडाजोल का 1 गोली देना है। गर्भवती महिलाओं के साथ गंभीर रूप से बीमार लोगों को कोई खुराक नहीं देना है। एएनएम व सहियाओं को प्रशिक्षण दिया जा चुका है।

प्रेसवार्ता करते सीएस।