संदेश: संस्था आईना ने एक ही कश का पच्चीसवां मंचन खोरठा भाषा में किया

Giridih News - अंतरराष्ट्रीय मातृभाषा दिवस पर आईना व अंतरराष्ट्रीय नाट्य कौंसिल ने खोरठा भाषा में बड़ा चौक, बददिहा, कठवारा व...

Feb 22, 2020, 06:51 AM IST

अंतरराष्ट्रीय मातृभाषा दिवस पर आईना व अंतरराष्ट्रीय नाट्य कौंसिल ने खोरठा भाषा में बड़ा चौक, बददिहा, कठवारा व मधुबन के हटिया में नुक्कड़ नाटक कर लोगों को मातृभाषा का संरक्षण का संदेश देकर प्रेरित किया कि संस्कृति की रक्षा हेतु सर्वप्रथम मातृभाषा की संरक्षण आवश्यक है। आज देश में कई भाषाओं का लोप होता जा रहा है। जिसकी वजह से देश की संस्कृति खतरे में है। तमाम बुद्धिजीवियों को चाहिए कि वे चाहे कोई भी विदेशी भाषा बोलें, पढ़ें पर लोगों को अपनी मातृभाषा को नहीं भूलने पर जरूर जोर दें। आईना ने आज एक ही कश का पच्चीसवां मंचन खोरठा भाषा में किया। नाटक में आदित्य, पुरुषोत्तम, इंद्रजीत, राहुल, अमर, तरुण, विकास, पंकज ने बहुत ही सुंदर अभिनय किया। कलाकारों ने कहा कि मातृभाषा में मंचन करके बहुत आनंद आ रहा है। खुद को अभिव्यक्त करने में बहुत ही मजा आया। क्योंकि अपनी मातृभाषा में मंचन किया था। निर्देशक महेश अमन ने कहा कि हम रंगकर्मी अपनी संस्कृति से प्रेम करते हैं और इसके संरक्षण के लिए हमेशा कार्यरत रहेंगे।

नाटक करते कलाकार।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना