कोल इंडिया में विदेशी निवेश करने के फैसले का विरोध

Giridih News - भास्कर न्यूज | बनियाडीह गिरिडीह कोलियरी के ओपेन कास्ट माइंस में राष्ट्रीय कोलियरी मजदूर संघ (इंटक) की सभा हुई।...

Sep 17, 2019, 06:46 AM IST
भास्कर न्यूज | बनियाडीह

गिरिडीह कोलियरी के ओपेन कास्ट माइंस में राष्ट्रीय कोलियरी मजदूर संघ (इंटक) की सभा हुई। जिसमें कोल सेक्टर में 100 प्रतिशत एफडीआई के विरोध में कोयला उद्योग में मंगलवार को एकदिवसीय हड़ताल को लेकर विरोध जताया गया। सभा में आरसीएमएस के क्षेत्रीय अध्यक्ष सह पूर्व सांसद डॉ. सरफराज अहमद ने एफडीआई की मंजूरी से होने वाले नुकसान के बारे में विस्तृत रूप से कर्मचारियों को बताया। कहा कि केन्द्र सरकार ने कोल इंडिया में सौ फीसदी विदेशी निवेश करने का निर्णय लिया है जो कि गलत है।

कोल इंडिया के सभी कंपनी को मिला कर एक कंपनी बनाने, मजदूर शब्द को हिन्दुस्तान से मिटाने का फैसला सरकार ने कर लिया है। कहा कि जहां वर्तमान सरकार 25 लाख करोड़ का काला धन विदेश से लाने वाला था। सरकार ने रिजर्व बैंक से एक लाख, छिहत्तर हजार करोड़ रुपए निकाल कर इस देश को कंगाल बनाने का राष्ट्र विरोधी काम किया है। कोयला उद्योग में 100 प्रतिशत विदेशी पूंजी निवेश का फैसला कर सरकार ने लाखों कोयला मजदूरों के जीवन में आग लगाने का काम किया है। इस काले कानून के खिलाफ कोयला मजदूरों ने चार श्रम संगठनों के नेतृत्व में हड़ताल करने का फैसला किया है। सभा को सफल बनाने में मुख्य रूप से बलराम यादव, संतोष कुमार, प्रदीप दराद, ताजउद्दीन, अर्जुन मंडल, भेखलाल सुंडी, हासिम अंसारी, हैदर अली, सिकंदर ठाकुर समेत अन्य कामगार मौजूद रहे।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना