पूर्व विधायक के बेटों ने कहा- बेदखल करना चाहते हैं पिता

Giridih News - पूर्व विधायक के चारों बेटे। सिटी रिपोर्टर | गिरिडीह पूर्व विधायक ओमीलाल आजाद द्वारा नगर थाने में प्राथमिकी...

Bhaskar News Network

Oct 13, 2019, 06:51 AM IST
Giridih News - sons of former mla said father wants to be evicted
पूर्व विधायक के चारों बेटे।

सिटी रिपोर्टर | गिरिडीह

पूर्व विधायक ओमीलाल आजाद द्वारा नगर थाने में प्राथमिकी दर्ज कराने के बाद उनके चारों बेटों ने पिता के खिलाफ ही मोर्चा खोल दिया है और फर्जी वसीयत के आधार पर जायदाद से बेदखल करने का आरोप लगाया है। पुत्र अशाेक कुमार, संतोष कुमार, अरुण कुमार और रतन कुमार ने कहा है कि उनकी मां स्व. माया देवी उर्फ माया आजाद का फर्जी हस्ताक्षर कर साजिश के तहत वसीयत तैयार कर उनके पिता संपत्ति से बेदखल करना चाहते हैं। चारों भाइयों ने कहा कि पिता द्वारा फर्जी वसीयत को तैयार करने में वकील दशरथ लाल, स्व. मनोहर तिवारी, स्व हरि किशोर दूबे की अतिरिक्त चारों बहनें और दो बहनोई शामिल हैं। कहा कि पिता ने माता माया आजाद का फर्जी हस्ताक्षर कर उनके हक के सारे संपत्ति अपने नाम करा लिया। उसी आधार पर उन्होंने जिला जज गिरिडीह की अदालत में फर्जी हस्ताक्षर वाला वसीयत 18 मार्च 2004 को समर्पित किया तथा 19 अप्रैल 2005 को सारी संपत्ति प्रोबेट करा अपने नाम करा लिया। पिता द्वारा फर्जी तरीके से 2007 में तीन एकड़ जमीन सिरसिया में थाना नंबर 44, खाता नंबर 3/98 के प्लॉट 218 को बेच कर सारा रुपया उन्हांेने अपनी चारों बेटियों के बीच बांट दिया। अब बचे मात्र 45 कट्‌ठा जमीन को भी उसी फर्जी वसीयत के आधार पर बेचकर बहनें आपस में बांट लेना चाहती हैं।

फाेरेंसिक जांच रिपोर्ट में मां के हस्ताक्षर को बताया गया है फर्जी

चारों बेटों ने कहा कि उसके पिता जो वसीयत दिखा रहे हैं, उसमें उनकी माता का असली हस्ताक्षर नहीं है। हस्ताक्षर फर्जी होने की रिपोर्ट भी फोरेंसिक ट्रूथ फाउंडेशन कोलकाता ने भी दे दी है। इसे लेकर वे लोग प्रींसिपल जिला एवं सेशन जज गिरिडीह के अदालत में जानकारी देते हुए केस दिनांक 31 अगस्त 2019 को दर्ज कराया है। कहा कि अदालत ने स्वीकार करते हुए ओमीलाल आजाद एवं चारों बहनों और दो बहनोई को अदालत में 3 अक्टूबर 2019 को कारण पृच्छा दाखिल करने को कहा है, जिसकी अगली तिथि 21 नवंबर 2019 तय है। पिता द्वारा नगर थाना में 10 अक्टूबर को कांड संख्या 248/19 में मुकदमा दर्ज कराया गया है। जिसमें घटना घटित होने की तिथि एक वर्ष पूर्व का लिखा गया है।

सिटी रिपोर्टर | गिरिडीह

पूर्व विधायक ओमीलाल आजाद द्वारा नगर थाने में प्राथमिकी दर्ज कराने के बाद उनके चारों बेटों ने पिता के खिलाफ ही मोर्चा खोल दिया है और फर्जी वसीयत के आधार पर जायदाद से बेदखल करने का आरोप लगाया है। पुत्र अशाेक कुमार, संतोष कुमार, अरुण कुमार और रतन कुमार ने कहा है कि उनकी मां स्व. माया देवी उर्फ माया आजाद का फर्जी हस्ताक्षर कर साजिश के तहत वसीयत तैयार कर उनके पिता संपत्ति से बेदखल करना चाहते हैं। चारों भाइयों ने कहा कि पिता द्वारा फर्जी वसीयत को तैयार करने में वकील दशरथ लाल, स्व. मनोहर तिवारी, स्व हरि किशोर दूबे की अतिरिक्त चारों बहनें और दो बहनोई शामिल हैं। कहा कि पिता ने माता माया आजाद का फर्जी हस्ताक्षर कर उनके हक के सारे संपत्ति अपने नाम करा लिया। उसी आधार पर उन्होंने जिला जज गिरिडीह की अदालत में फर्जी हस्ताक्षर वाला वसीयत 18 मार्च 2004 को समर्पित किया तथा 19 अप्रैल 2005 को सारी संपत्ति प्रोबेट करा अपने नाम करा लिया। पिता द्वारा फर्जी तरीके से 2007 में तीन एकड़ जमीन सिरसिया में थाना नंबर 44, खाता नंबर 3/98 के प्लॉट 218 को बेच कर सारा रुपया उन्हांेने अपनी चारों बेटियों के बीच बांट दिया। अब बचे मात्र 45 कट्‌ठा जमीन को भी उसी फर्जी वसीयत के आधार पर बेचकर बहनें आपस में बांट लेना चाहती हैं।

X
Giridih News - sons of former mla said father wants to be evicted
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना