गोला

--Advertisement--

1100 महिलाएं निकालेंगी कलश यात्रा

आचार्य पंडित दीपक मालवीय के साथ अन्य पुजारी। 26 मार्च को होगी पूर्णाहुति महायज्ञ की पूर्णाहुति 26 मार्च को...

Dainik Bhaskar

Mar 18, 2018, 02:25 AM IST
1100 महिलाएं निकालेंगी कलश यात्रा
आचार्य पंडित दीपक मालवीय के साथ अन्य पुजारी।

26 मार्च को होगी पूर्णाहुति

महायज्ञ की पूर्णाहुति 26 मार्च को होगी। शनिवार को तैयारी की समीक्षा के लिए छिन्नमस्तिका मंदिर न्यास समिति की बैठक हुई। बैठक मंदिर न्यास समिति के दफ्तर में हुई। इसकी अध्यक्षता वरीय पुजारी अजय पंडा ने की। बैठक में असीम पंडा, शुभाशीष पंडा, छोटू पंडा, लोकेश पंडा, गुड्डू पंडा, बिक्रम पंडा, पप्पू पंडा, राकेश पंडा, विप्लव पंडा, गौतम पंडा, अशेष पंडा, विजय पंडा, मंथन पंडा, रितेश पंडा, रंजीत पंडा, राजेश पंडा, नवीन पंडा, ब्रजेश पंडा, सोनू पंडा, चंदन पंडा, सुजीत पंडा, संजीत पंडा मौजूद थे।

वाराणसी से आचार्य पं.दीपक मालवीय पहुंचे

महायज्ञ में शामिल होने के लिए काशी विश्वनाथ मंदिर वाराणसी से आचार्य पं. दीपक मालवीय समेत 51 पुजारी शुक्रवार की शाम यहां पंहुच गए। आचार्यों ने भी तैयारी का जायजा लिया ।

1200 फीट ऊंचाई पर सजा महामाया मंदिर में मां का दरबार

रामगढ़ | चैत्र नवरात्र पर मंदिरों में धार्मिक अनुष्ठान की तैयारी पूरी कर ली गई है। रविवार को वैदिक मंत्रोच्चार के बीच कलश स्थापना के साथ अनुष्ठान प्रारंभ होगा। शहर के झंडा चौक के माता वैष्णो देवी मंदिर, मेन रोड के मां विघ्नहरणेश्वरी मंदिर, कांकेबार के महामाया देवी पहाड़ी मंदिर में माता का दरबार सजाया गया है। यहां, पुजारियों द्वारा यजमानों को पूजा कराई जाएगी।

18 मार्च को माता वैष्णो देवी मंदिर में सुबह 9 बजे कलश स्थापना पूजा की जाएगी। यहां, मंदिर पुजारी लीलाधर शर्मा द्वारा मुख्य यजमान विशाल वासुदेवा और उनकी प|ी मोनिका वासुदेवा को पूजा कराई जाएगी। महामाया देवी मंदिर में पुजारी दिनेश पाठक, माता विध्नहरणेश्वरी मंदिर के पुजारी संजयेंद्र गुरु द्वारा नवरात्र अनुष्ठान किया जाएगा। इसके अलावा गोला रोड के श्रीसत्यनारायण मंदिर में पुजारी मदनमोहन शर्मा, किला मंदिर में आचार्य गोविंद वल्लभ शर्मा, प्राचीन महावीर मंदिर में पुजारी विजय पाठक, श्रीपंचमुखी हनुमान मंदिर में पुजारी अवधेश पांडेय पूजा कराएंगे। नवरात्र की पूजा सुबह सात बजे और आरती शाम सात बजे होगी। कांकेबार के पहाड़ी पर 1200 फीट ऊंचाई पर महामाया देवी मंदिर में माता रानी का दरबार सजा है। यहां, पुजारी आचार्य दिनेश पाठक व सहायक पुजारी अनिल मिश्र पूजा कराएंगे। आचार्य दिनेश पाठक ने बताया कि नवरात्र की पूजा प्रात: 7 बजे और संध्या आरती 7 बजे से होगी। 25 मार्च को महाअष्टमी का व्रत करने वाले उपवास रखेंगे और संधि पूजा के बाद व्रती फलाहार पर ही रहेंगे। सप्तमी मिश्रित अष्टमी करना वर्जित है।

X
1100 महिलाएं निकालेंगी कलश यात्रा
Click to listen..