• Home
  • Jharkhand News
  • Gola
  • जेबीवीएनएल के एमडी ने कहा : 20 जुलाई तक रोशन होंगे जिले के सभी घर
--Advertisement--

जेबीवीएनएल के एमडी ने कहा : 20 जुलाई तक रोशन होंगे जिले के सभी घर

झारखंड बिजली वितरण निगम लिमिटेड (जेबीवीएनएल) प्रबंध निदेशक राहुल पुरवार बुधवार को रामगढ़ पहुंचे। इस दौरान सर्किट...

Danik Bhaskar | Jul 12, 2018, 02:30 AM IST
झारखंड बिजली वितरण निगम लिमिटेड (जेबीवीएनएल) प्रबंध निदेशक राहुल पुरवार बुधवार को रामगढ़ पहुंचे। इस दौरान सर्किट हाउस में बिजली विभाग के वरीय अधिकारी सहित कर्मियों संग बैठक की। कहा कि 20 जुलाई तक रामगढ़ के सभी घरों में बिजली पहुंचाना है। इसे लेकर सभी तरह के निर्माण तेज करने का निर्देश दिया। कहा कि कार्य में किसी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

परेशानी होने पर सीधे डीसी अथवा मुझे जानकारी दी जाए। समाधान के लिए त्वरित कार्रवाई की जाएगी ताकि हर-हाल में 20 जुलाई तक रामगढ़ के सभी घरों में बिजली पहुंचाई जा सके। इसके लिए सूची तैयार कर डीसी को भी सौंपने का निर्देश दिया। डीसी से समन्वय स्थापित कर काम में तेजी लाने की बात कही। इसके अलावा जिला के सभी सरकारी स्कूल, स्वास्थ्य केंद्र, पंचायत भवन, आंगनबाड़ी में बिजली चालू करने का निर्देश दिया। मौके पर अपर समाहर्ता विजय गुप्ता, बिजली विभाग के अधीक्षण अभियंता संजय कुमार, कार्यपालक अभियंता मृणाल गौतम, सहायक अभियंता एसआरके यादव सहित बिजली विभाग के सभी कार्यपालक अभियंता, सहायक अभियंता, जूनियर अभियंता आदि मौजूद थे।

प्रबंध निदेशक ने अधिकारियों से कहा कि सभी घरों में बिजली देने वाला पहला जिला बनेगा रामगढ़। सरकार के निर्देश पर बिजली विभाग ने कमर-कस लिया है। इसे लेकर लगातार निर्माण की समीक्षा की जा रही है। आने वाली समस्याओं का निपटारा युद्ध स्तर पर किया जा रहा है। साथ ही समय-समय पर बैठक कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए जा रहे हैं। निर्माण में लगी एजेंसियों को कोताही बरतने पर सीधे कार्रवाई का स्पष्ट निर्देश है।

शहर में तेजी से बदले गए हैं जर्जर ट्रांसफार्मर

जेबीवीएनएल प्रबंध निदेशक ने कहा कि बिजली व्यवस्था दुरुस्त करने के लिए शहर के सभी जर्जर ट्रांसफार्मर तेजी से बदले गए हैं। ताकि आमलोगों को निर्बाध बिजली आपूर्ति हो सके। शहर की तर्ज पर ग्रामीण क्षेत्रों में भी युद्ध स्तर पर पुराने ट्रांसफार्मर बदलने की बात कही। इसके लिए बिजली विभाग के अधिकारी और कर्मियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिया गया है।

बैठक में मौजूद बिजली विभाग के अधिकारी और कर्मचारी।

गोला, मरार और कैथा में बन रहा सब-स्टेशन

लाइनलोस में कमी के लिए जिले में कुल 11 पॉवर सबस्टेशन निर्माण की जानकारी दी। कहा कि सितंबर-अक्टूबर तक सभी पॉवर सबस्टेशन का निर्माण पूर्ण होगा। इससे लाइनलॉस में 30 प्रतिशत के स्थान पर 15 फीसदी तक कमी होगी। इसके अलावा एक साल में दो नए ट्रांसमिशन सबस्टेशन बनाए जाने की बात कही। इसके लिए गोला और मरार स्थल के रूप में चयनित है। वहीं इंडस्ट्रीज को बिजली देने के लिए अलग लाईन तैयार किया जा रहा है। इसके अलावा कैथा में सबस्टेशन तैयार होने के बाद 30 एमवीए अतिरिक्त बिजली की व्यवस्था होगी। शहर का भार कम होने से ग्रामीण क्षेत्रों को भी फायदा मिलेगा।

बैठक लेते एमडी राहुल पुरवार।