Hindi News »Jharkhand »Gola» दोगुना फीस लेने के आरोप में छात्रों ने कॉलेज के गेट पर ताला जड़ा

दोगुना फीस लेने के आरोप में छात्रों ने कॉलेज के गेट पर ताला जड़ा

फीस बढ़ाने के विरोध में कॉलेज का मेन गेट जाम करते छात्र। भास्कर न्यूज| मगनपुर प्रखंड क्षेत्र के हुप्पू गांव...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 10, 2018, 02:45 AM IST

दोगुना फीस लेने के आरोप में छात्रों ने कॉलेज के गेट पर ताला जड़ा
फीस बढ़ाने के विरोध में कॉलेज का मेन गेट जाम करते छात्र।

भास्कर न्यूज| मगनपुर

प्रखंड क्षेत्र के हुप्पू गांव स्थित गोला पॉलिटेक्निक कॉलेज में अध्ययनरत छात्रों ने सोमवार को प्रबंधन पर अधिक फीस लेने का आरोप लगाया। इसके विरोध में छात्रों ने हो-हंगामा करते हुए दो घंटे तक मेन गेट को बंद कर दिया। जिससे नामांकन कराने पंहुचे अभिभावक व अन्य छात्रों को गेट के बाहर ही घंटों इंतजार करना पड़ा। इस दौरान सूचना पर पहुंचे पूर्व पार्षद गोविंद मुंडा ने छात्रों व प्रबंधन के बीच वार्ता करा मामले को शांत कराया। वार्ता में छात्रों की मांगों को हाई ऑथोरिटी के समक्ष रखने के प्रस्ताव को मान लिया गया। इसके बाद गेट पर लगाया गया ताला दोपहर एक बजे खोल दिया गया।

इस संबंध में छात्रों ने बताया कि कॉलेज प्रबंधन सरकार द्वारा निर्धारित फीस से दोगुना फीस ले रहा है। जिसे वापस लेने की मांग करने पर जीएम द्वारा हमारी बातों को अनसुना करते हुए कहा गया कि तुमलोगों को जहां जाना है जा सकते होे, फीस कम नहीं किया जाएगा। जीएम की बातों को सुनकर छात्र आक्रोशित हो गए और मेन गेट में ताला जड़ दिया। छात्रों का कहना था कि एसबीटीई द्वारा पीपीपी मोड के तहत संचालित पॉलिटेक्निक कॉलेज की फीस निर्धारित है पर यहां इससे दो गुना ज्यादा पैसा लिया जा रहा है। उधर जीएम एसएस दत्तागुप्ता ने बताया कि सरकार द्वारा निर्धारित ट्यूशन और विकास शुल्क लिया जाता है। जबकि अन्य शुल्क कॉलेज प्रबंधन द्वारा स्वयं निर्धारित किया गया है। उन्होंने अधिक फीस लेने की बात से इंकार किया। मौके पर प्रिंसिपल पंकज कुमार, छात्र संघ के सलीमुद्दीन अंसारी, उत्तम रजवार, गुलजार अंसारी सहित कॉलेज प्रबंधन के लोग मौजूद थे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Gola

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×