--Advertisement--

राजकीय विद्यालय में मनाई गई संत रविदास की जयंती

राजकीय प्राथमिक विद्यालय पिठाकियारी में संत शिरोमणि रविदास जी की जयंती बुधवार को धूमधाम से मनाई गई। कार्यक्रम...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 01:25 PM IST
राजकीय प्राथमिक विद्यालय पिठाकियारी में संत शिरोमणि रविदास जी की जयंती बुधवार को धूमधाम से मनाई गई। कार्यक्रम में मुख्य रूप से झामुमो नेता अशोक मंडल उपस्थित थे। कार्यक्रम की शुरुआत संत रविदास जी के तस्वीर पर पुष्पांजलि अर्पित कर की गई। इसके बाद उपस्थित लोगों के बीच प्रसाद का भी वितरण किया गया। लोगों को संबोधित करते हुए अशोक मंडल ने कहा कि, संत शिरोमणि रविदास जी काशी निवासी संतोष दास के घर में पैदा हुए थे। संतो के साथ व्यतीत उनके जीवन का अधिकांश जीवन ने उन्हें भी संत बना दिया। सबसे पहले उन्होंने ही आंतरिक भावनाओं व आपसी भाईचारे को सच्चा धर्म बताते हुए समाज में व्याप्त कुरीतियों को समाप्त करने का प्रयास किया। हमें उनके आदर्शों को अपने जीवन में आत्म सार करने की जरूरत है। मौके पर उपेंद्रनाथ पाठक, सुजीत रविदास, कन्हाई दास, सुनील दास, राजेंद्र दास, भीम दास, घनश्याम दास, विशु दास, मिथुन दास, आलोक दास, तरुण रवानी, नाजिर शेख, हरहर आर्या, मंगल तूरी आदि मौजूद थे।

आंबेडकर स्कूल में रविदास जयंती मनाई गई

कुमारधुबी|मैथन मोड़ स्थित आंबेडकर स्कूल परिसर में मंगलवार को संत रविदास की 641वीं जयंती धूमधाम से मनाई गई। स्कूल परिसर स्थित रविदास मंदिर में पूजा अर्चना की गई। शाम को सत्संग और उसके बाद भंडारा (भोज) का आयोजन हुआ, जिसमें सैकड़ों श्रद्धालु शामिल हुए। कार्यक्रम को सफल बनाने में नागेंद्र कुमार, अजय चौधरी, कृष्णा राम, चंदेश्वर भगत, परशुराम रजक, लाल बाबू रजक, चंद्रशेखर आर्य, मुकेश कुमार, उमेश कुमार, शिवराम हरिजन, सुखराज राम आदि की भूमिका रही।

थापरनगर में संत रविदास की जयंती मनाते लोग।

गोविंदपुर के पलटन टांड़ में संत रविदास की तस्वीर पर माल्यर्पण करते लोग।

संत रविदास के आदर्शों पर चलने का संकल्प

गोविंदपुर|संत रविदास की 641 वीं जयंती बुधवार को पलटन टांड़ गोविंदपुर में समारोहपूर्वक मनायी गई। उपस्थित लोगों ने संत रैदास की तस्वीर पर माल्यार्पण कर श्रद्घांजलि अर्पित की। मौके पर आयोजित विचार गोष्ठी की अध्यक्षता सुभाष कुमार रविदास एवं संचालन संजीत रविदास ने किया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि माले नेता सुबल दास ने कहा कि संत गुरू रविदास सामाजिक आंदोलन के अग्रदूत थे। उनके आदर्शों पर चलने की जरूरत है। श्री दास ने कहा कि अब अपने लोगों पर हो रहे दमन- शोषण व अत्याचार को बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। मौके पर अधिवक्ता अनिल दास, बिरेंद्र राम, शिवलाल रविदास, मिंटू दास, राकेश दास, सुनील रविदास, अंबिका दास, बबलू दास, शिवकुमार दास, दीपक दास, आकाश दास, आनंद दास , चंदन दास, रंजीत दास, उमेश दास, संतोष रविदास, गौतम रविदास आदि ने अपने विचार रखे। धन्यवाद ज्ञापन राजेश दास ने किया।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..