Gua

  • Home
  • Jharkhand News
  • Gua
  • चक्रधरपुर बोड़दा पुल के समीप दर्दनाक दुर्घटना
--Advertisement--

चक्रधरपुर बोड़दा पुल के समीप दर्दनाक दुर्घटना

भास्कर न्यूज। चक्रधरपुर/जमशेदपुर चक्रधरपुर-चाईबासा एनएच-75 के बोड़दा पुल के पास विवाह शगुन पूजा (ऐरे बोंगा) कर रहे...

Danik Bhaskar | Mar 04, 2018, 02:35 AM IST
भास्कर न्यूज। चक्रधरपुर/जमशेदपुर

चक्रधरपुर-चाईबासा एनएच-75 के बोड़दा पुल के पास विवाह शगुन पूजा (ऐरे बोंगा) कर रहे दो परिवार के 27 लोगों को कार ने रौंद डाला। दुर्घटना में छह लोगों की जान चली गई। दर्जन भर लोग घायल हैं। घटना शनिवार रात 8 बजे की है। हाट गम्हरिया, कुमारडुंगी व गोइलकेरा के दूधजुड़ी और जामजुड़ी गांव के दो परिवारों में सालभर पहले वैवाहिक कार्यक्रम हुए थे। घटना के वक्त हाइवे पर शगुन पूजा (एरे बोंगो) चल रही थी। सभी वापस घर जाने की तैयारी में थे, तभी चाईबासा की ओर से लाल रंग की कार तेजी से आई और लोगों को रौंदती चली गई।

एनएच-75 पर शगुन पूजा कर रहे आदिवासी परिवार को कार ने कुचल डाला, 6 की मौत

दुर्घटना में सड़क किनारे खड़ी बाइक बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई।

दोनों परिवारों में सालभर पहले हुआ रिश्ता, आगे का रिवाज निभा रहे थे

हाट गम्हरिया के दूधजुड़ी निवासी चमन पाट पिगुंवा की शादी गोइलकेरा इलाके के दशमा हेंब्रम के साथ हुई थी। शादी की ऐरे बोंगो यािन आदिवासियों की प्रथा के अनुसार शगुन पूजा बाकी थी। इस के लिए दोनों परिवारों के सदस्य चक्रधरपुर की सीमा क्षेत्र में पूजा के लिए जुटे थे। पूजा की समाप्ति के दौरान ही यह दुर्घटना हो गई। दुर्घटना में दूल्हा चमन पाट पिगुंवा के दो चाचा, एक भाई और दुल्हन दशमा की मामा की मौत हो गई है। दोनों पक्ष यहां पूजा करने के बाद खा नहीं पाए थे। खाना पीना दूसरी जगह करने के लिए जल्दी निकलना चाह रहे थे।

कार तेजी से आई और लोगों को रौंद डाला

हमलोग ऐरे बोंगो पूजा कर चुके थे। इसके बाद खाना बनाकर खाने की तैयारी में थे। एनएच किनारे ही पूजा हुई थी। हम वहीं खड़े थे। उसी समय चाईबासा की तरफ से एक लाल रंग की कार तेज रफ्तार में आई। कार में दो लोग सवार थे। कार ने सीधे बाइक सहित सबको रौंद दिया। मैं भी छिटक कर दूर जा गिरा। उसके बाद देखा कि मौके पर दो लोग मर चुके हैं। दो परिवार के ही ज्यादातर लोग वहां जुटे थे। - जैसा प्रत्यक्षदर्शी देवेंद्र पाट पिंगुवा ने बताया।

आंखोंदेखी

मृतकों के नाम

लंकेश्वर पाट पिगुंवा, दिसंबर पाट पिगुंवा, सुखलाल हेंब्रम , रासिका पाट पिंगुवा , दुर्गा हेंब्रम व एक अज्ञात