--Advertisement--

पढ़ाई के साथ खेलकूद भी है जरूरी

जनजातीय मामलों के केंद्रीय राज्यमंत्री सुदर्शन भगत ने कहा कि पढ़ाई के साथ खेलकूद जरूरी है। खेलकूद को बढ़ावा देने...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 02:30 AM IST
जनजातीय मामलों के केंद्रीय राज्यमंत्री सुदर्शन भगत ने कहा कि पढ़ाई के साथ खेलकूद जरूरी है। खेलकूद को बढ़ावा देने के लिए सरकार लगातार प्रयास कर रही है। वे बुधवार को सदर प्रखंड की खरका पंचायत में बिरसा एकेडमिक संस्थान खेलकूद प्रतियोगिता सह वार्षिक उत्सव कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि संसाधन के अभाव में बिरसा एकेडमिक संस्थान द्वारा बच्चों को बेहतर अवसर दिया जा रहा है। यह एक अच्छा प्रयास है। खेल के माध्यम से बच्चे क्षेत्र का नाम रोशन करें। वे हर संभव सहायता को तैयार हैं। भाजपा जिलाध्यक्ष सविंद्र सिंह ने कहा कि इस गरीब क्षेत्र में एक आदमी द्वारा बच्चों को खेल का प्रशिक्षण दिया जाना सराहनीय पहल है। बिरसा एकेडमिक संस्थान के सचिव बबलू राम संस्थान द्वारा किए जा रहे प्रयासों की जानकारी दी। कहा कि अगर उन्हें मदद मिलती है, तो वह सरकार की सोच को और आगे ले जाएंगे। इसके पूर्व अतिथियों के आगमन पर पारंपरिक तरीके से स्वागत किया गया।

बच्चों ने एक से बढ़कर एक नृत्य प्रस्तुत किए। प्रतियोगिता के सफल प्रतिभागी रोहित रामेश्वरम उरांव, संध्या कुमारी, चांदनी कुमारी, जयंती कुमारी, रश्मि कुमारी, सोनम कुमारी, विनोद एक्का, इंद्रदेव साहू, पुणे उरांव को पुरस्कार देकर सम्मानित किया। इस मौके पर भाजयुमो जिलाध्यक्ष मिसिर कुजूर, सुरेश सिंह, मुखिया आशा उरांव, कर्मपाल उरांव, भोला चौधरी, मनोज तिवारी, प्रमोद गुप्ता, राष्ट्रपति प्रसाद सहित काफी संख्या में ग्रामीण मौजूद थे।