--Advertisement--

दुनिया की सबसे मृदुभाषा है संस्कृत

Gumla News - सरस्वती शिशु विद्या मंदिर परिसर में शनिवार को भारतीय संस्कृति संरक्षण संवर्धन के लिए सांस्कृतिक कार्यक्रम का...

Dainik Bhaskar

Feb 18, 2018, 02:35 AM IST
दुनिया की सबसे मृदुभाषा है संस्कृत
सरस्वती शिशु विद्या मंदिर परिसर में शनिवार को भारतीय संस्कृति संरक्षण संवर्धन के लिए सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। विद्या विकास समिति गुमला विभाग के निरीक्षक रमेश मणि पाठक ने संस्कृत को भारतीय संस्कृति का अक्षुण्ण विरासत बताते हुए इसे दुनिया का सबसे मृदुभाषा बताया। उन्होंने कहा कि धरती हमारी माता है और हम उसके संतान हैं। इस नाते हम सभी लोग आपस में भाई हैं।

मानवता के प्रति भातृ भाव को अपने आचरण में उतारने के लिए भारतीय संस्कृति ही प्रेरित करता है। मुख्य अतिथि जिला स्कूल के प्राचार्य रमा रमण मिश्र ने कहा कि विश्व बंधुत्व के साथ सृष्टि की समस्त प्राणियों के प्रति सद्भाव एवं सहअस्तित्व की सोच केवल भारतीय संस्कृति की ही देन है। कार्यक्रम में स्कूली भैया-बहनों ने भरतनाट्यम, शिव तांडव, नागपुरी नृत्य का मनमोहक प्रस्तुति कर भारतीय संस्कृति के संरक्षण एवं संवर्धन के प्रति अपना निश्चय प्रकट किया। छात्रा प्रियंका कुमारी एवं उनकी सहेलियों ने नागपुरी गीत प्रस्तुत एवं नृत्य प्रस्तुत किया। वहीं दीपिका कुमारी ने सहेलियों के साथ घूमर नृत्य प्रस्तुत किया।

सांस्कृतिक कार्यक्रम में वैजयंती अमीषा मौसमी नूतन नीति मुक्ति आदि बहनों ने उत्कृष्ट प्रदर्शन किया। कार्यक्रम में प्रधानाचार्य सुनील कुमार पाठक ने धन्यवाद ज्ञापन किया। मौके पर भोला नाथ दास, राजबल्लभ शर्मा सहित बड़ी संख्या में छात्र छात्रा एवं आचार्य उपस्थित थे।

X
दुनिया की सबसे मृदुभाषा है संस्कृत
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..