संस्कृति के ज्ञान के लिए गुरुकुल की शिक्षा अतुलनीय : नंदलाल

Gumla News - गुरुकुल विद्यालय झारखंड में खोले जाने की हो रही है कवायद आधुनिक शिक्षा व पारम्परिक संस्कारों का अनुपम...

Bhaskar News Network

Mar 17, 2019, 03:25 AM IST
Lohardaga News - gurukul39s education is incomparable for knowledge of culture nandlal
गुरुकुल विद्यालय झारखंड में खोले जाने की हो रही है कवायद

आधुनिक शिक्षा व पारम्परिक संस्कारों का अनुपम सामंजस्य गुरुकुल में मिलेगा

भास्कर न्यूज | लोहरदगा

गुरुकुल शांति आश्रम में आर्य समाज के शिवालिक गुरुकुल के प्रबंधक नन्दलाल शास्त्री का शनिवार को आगमन हुआ है। उन्होंने बताया कि पूरे भारत में गुरुकुल विद्यालय खोलने की योजना है। इसी के तहत उनका आगमन झारखंड हुआ है। गुरुकुल शांति आश्रम में आयोजित प्रेस वार्ता के दौरान शास्त्री ने कहा कि आर्य समाज के दिशा, आदर्शों, राष्ट्रीयता का भाव, संस्कार वान एवं वैदिक सभ्यता संस्कृति को ध्यान में रखते हुए शिवालिक गुरुकुल के नाम से विद्यालय प्रारंभ किया जा रहा है। वर्तमान समय में जहां पैसों के बल पर स्कूलों की संख्या बढ़ती जा रही है, पर बच्चे सिर्फ बाहरी चकाचौंध व डिग्रियां लेकर नौकरी व पैसे कमा सकते हैं, अपनी संस्कृति का ज्ञान, चरित्र वान व सच्चा राष्ट्रभक्त नहीं।

उन्होंने बताया कि गुरुकुल में अध्ययनरत विद्यार्थियों को प्राकृतिक सौंदर्य से युक्त वातावरण, अंग्रेजी हिंदी व संस्कृत प्रशिक्षण के लिए भाषा प्रयोगशाला सभी विषयों की पुस्तकों से सुसज्जित पुस्तकालय विभिन्न खेल प्रशिक्षण के लिए शिक्षकों की व्यवस्था, यज्ञशाला, खेल के मैदान आदि की व्यवस्था होगी। आचार्य शरतचंद्र आर्य ने भी विचार रखते हुए कहा कि मौजूदा समय में बच्चों के सर्वांगिण विकास गुरुकुल में ही मिल सकती है।

आधुनिक शिक्षा एवं पारम्परिक संस्कारों के अनुपम सामंजस्य गुरुकुल में मिलेगी। वर्तमान में हरियाणा आर्य समाज के विचारों को आत्मसात करते हुए गुरुकुल विद्यालय खोले गए हैं। सभी सुविधाएं उपलब्ध होने की स्थिति में बिहार व झारखंड में भी गुरुकुलों की शाखाएं विस्तारित किये जाने का विचार है। मौके पर अभय भारती, अर्जुनदेव आर्य, आकाश, सूरज आर्य सहित अन्य मौजूद थे।

X
Lohardaga News - gurukul39s education is incomparable for knowledge of culture nandlal
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना