मतदाताओं पर जागरुकता कार्यक्रम का असर नहीं, मतदान प्रतिशत लुढ़का

Gumla News - चुनाव आयोग के निर्देशानुसार स्वीप कार्यक्रम के तहत संचालित मतदाता जागरूकता अभियान का गुमला के शहरी मतदाताओं पर...

Dec 04, 2019, 08:56 AM IST
Gumla News - no voter awareness program impacted voter turnout dropped
चुनाव आयोग के निर्देशानुसार स्वीप कार्यक्रम के तहत संचालित मतदाता जागरूकता अभियान का गुमला के शहरी मतदाताओं पर कोई असर नहीं पड़ा। जबकि स्वीप कार्यक्रम के तहत सर्वाधिक कार्यक्रम शहर के ही विभिन्न स्थानों पर संचालित किया। गुमला विधानसभा क्षेत्र एवं आसपास के बूथों पर औसत मतदान प्रतिशत से कम वोटिंग हुआ। शहरी क्षेत्र में 40 बूथ हैं, किंतु उसमें से मुश्किल से आधा दर्जन ही बूथ वैसे होगे। जहां 60 प्रतिशत या उससे अधिक वोटिंग हुई है। शेष सभी बूथों पर 60 प्रतिशत से कम वोटिंग हुई है। जबकि गुमला विधानसभा क्षेत्र का औसत वोटिंग 63 प्रतिशत से अधिक है। यहां तक की कई बूथों पर तो 50 प्रतिशत से भी कम मतदान किया गया। जिला प्रशासन का भी शहरी वोटरों को जागरूक करने पर फोकस रहा। यहीं कारण है कि शहरी क्षेत्र के 10 बूथों को मॉडल बूथ, 12 बूथों को सखी बूथ बनाया गया। ताकि वोटर बूथ की ओर आकर्षित हों। लेकिन शहरी क्षेत्र में हुई कम वोटिंग यहां के वोटरों में वोट के प्रति उदासीनता का ट्रेंड कायम रखा। शहर के बूथों में सबसे अधिक वोटिग बूथ संख्या 237 राजकीय कन्या मवि पश्चिमी भाग में 69.74 प्रतिशत हुआ।

उसी प्रकार 236 में 68.42 प्रतिशत वोटिंग हुई। बूथ संख्या 236 पर कुल वोटर 585 वोटरों में 408 वोटराे ने वोट डाले। जबकि महिला महाविद्यालय के बूथ पर सबसे कम 44 प्रतिशत वोटिंग हुई। शहर की तुलना में ग्रामीण क्षेत्रों में वोटिंग का ट्रेंड सकारात्मक रहा। जिसमें बूथ संख्या 180 उप्रावि खोरा पतराटोली में 81.46 प्रतिशत और 177 उत्क्रमित हाईस्कूल खोरा पतराटोली में 81.29 प्रतिशत वोटिंग हुई। पिछले लोकसभा चुनाव में भी गुमला शहर के महिला महाविद्यालय बूथ को सबसे कम वोटिंग वाले बूथ के रूप में चिह्नित किया गया था। गत लोकसभा चुनाव में शहर का दूसरा सबसे कम वोटिंग वाला बूथ 221 संत पात्रिक मध्य विद्यालय था। वहां 49.63 प्रतिशत वोटिंग दर्ज की गई थी। इस वर्ष विधानसभा चुनाव में जहां महिला महाविद्यालय का वोटिंग प्रतिशत गत लोकसभा चुनाव की तुलना में 47.19 से घटकर 44 प्रतिशत हो गया। वहीं संत पात्रिक मिडिल स्कूल में वोटिंग प्रतिशत में थोड़ा सुधार होकर 51.59 पहुंचा। इस प्रकार शहरी क्षेत्रों के वोटरों का वोटिंग ट्रेंड गत लोकसभा चुनाव की दृष्टि यथावत आंका गया है।

X
Gumla News - no voter awareness program impacted voter turnout dropped
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना