म्यूटेशन का 90 दिनों से पुराना कोई मामला नहीं है पेंडिंग : डीसी

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
समाहरणालय स्थित सम्मेलन कक्ष में शनिवार को डीसी आकांक्षा रंजन ने जिले प्रशासन की उपलब्धि को लेकर मासिक प्रेस कॉन्फ्रेंस किया। इस दौरान एसपी प्रियदर्शी आलोक, डीडीसी आर रॉनिटा भी मौजूद थीं। मीडिया को संबोधित करते हुए डीसी ने जिला के विभिन्न विभागों द्वारा वर्तमान वित्तीय वर्ष में किए जा रहे कार्य प्रगति की जानकारी दी। डीसी ने बताया कि जून में 27 तारीख तक 2397 ट्रांजेक्शन से 5,03,360 रुपए लगान की प्राप्ति हुई। डीसी ने कहा कि जिले में म्यूटेशन से संबंधित 90 से अधिक दिनों का कोई भी केस लंबित नहीं है। पथ निर्माण विभाग द्वारा दो हाईलेवल ब्रिज का निर्माण किया जा रहा है, जिसमें एक ब्रिज भंडरा-बक्सीडीपा-सेन्हा सड़क में व दूसरा पतराटोली-मन्हो सड़क पर शंख नदी पर बनायी जा रहा है। दोनों ब्रिज का निर्माण मार्च 2020 तक पूरा करने का लक्ष्य है। बताया कि जून माह तक वज्रपात से मृत 4 व्यक्तियों के आश्रितों को कुल 16 लाख रुपए का मुआवजा दिया जा चुका है।

प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करतीं डीसी व मौजूद अन्य अतिथि।

जिला को नक्सल व उग्रवाद मुक्त बनाने में पुलिस है कटिबद्ध : एसपी

एसपी प्रियदर्शी आलोक ने कहा कि पुलिस प्रशासन जिला को नक्सल व उग्रवादमुक्त बनाने के लिए कटिबद्ध हैं। इस दिशा में लगातार पुलिस कार्य कर रही है। मई माह में कुल 76 केस दर्ज हुए। जिसमें से 67 केस निष्पादित किए गए। हत्या के 3 केस (सभी सामान्य) दर्ज एवं तीनो में गिरफ्तारी हुई। चोरी के 10 मामले दर्ज हुए। जिसमें 7 का उद्भेदन किया गया। अपहरण के 2 (दोनों प्रेम प्रसंग) मामले दर्ज हुए और दोनों में गिरफ्तारी हुई। बताया कि बलात्कार के 3, गैंगरेप का 1, दहेज के 2 और डायन हत्या के 5 मामले दर्ज किए गए। अनुसूचित जनजाति/जति अत्याचार अधिनियम में 6 मामले दर्ज हुए। 3 मामलों में कुर्की जब्ती की गई।

खबरें और भी हैं...