Hindi News »Jharkhand »Haidarnagar» मेंटनेंस के अभाव में पईन व बड़की आहर जर्जर, हजारों एकड़ भूमि सूखी

मेंटनेंस के अभाव में पईन व बड़की आहर जर्जर, हजारों एकड़ भूमि सूखी

प्रखंड के इमामनगर बरेवा पंचायत में पिछले छह वर्ष से भारी वर्षा से धराशायी हुए चहका समेत पईन का जीर्णोद्धार नहीं...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 13, 2018, 02:30 AM IST

मेंटनेंस के अभाव में पईन व बड़की आहर जर्जर, हजारों एकड़ भूमि सूखी
प्रखंड के इमामनगर बरेवा पंचायत में पिछले छह वर्ष से भारी वर्षा से धराशायी हुए चहका समेत पईन का जीर्णोद्धार नहीं किए जाने से बुद्धिबिगहा, हैदरनगर पूर्वी का अंश, लोहरपुरा, बरवाडीह के ग्रामीण किसानों की करीब 1200 एकड़ खेती योग्य भूमि सूखी पड़ी है। इसकी आवाज कई बार बीडीसी समेत प्रशासन तक लगाई जाने के बावजूद अब तक इसे गंभीरता से नहीं लिया गया। शुक्रवार की शाम जिला पार्षद सच्चिदानंद सिंह के बुद्धिबिगहा गांव में आते ही किसानों ने कहा कि चहका से पटवन तो प्रभावित है ही, साथ उनके गांव से सटे सदाबह नदी में छह स्थानों पर प्रति चेकडैम 32 लाख रुपए लागत व्यय आठ वर्ष पूर्व किए जाने से उनकी एक प्रतिशत भी भूमि उपजाऊ नहीं हो सकी, उल्टा कई जगहों पर नदी से हटकर खेत क्यारियों में इसका निर्माण कराए जाने से बरसात के दिनों में जलजमाव होने से उनका गांव ही डूब क्षेत्र का रूप ले लेता है। वहीं बरडंडा पंचायत के इमलियाटीकर गांव में पुरानी और बहुचर्चित बड़की आहर मेंटनेंस के अभाव में दर्जनों गांवों के छोटे बड़े किसानों के प्रतिवर्ष 1600 एकड़ भूमि सिंचित नहीं हो पाती। अव्वल तो यह है कि आवर्ती रूप में वर्षा के मौसम में सटे ही पहाड़ की तलहटी में कासीसोत नदी में पानी आने के बाद सर्वप्रथम इसी आहर को पानी मिलना नसीब होता है, पर कई स्थानों पर टूटने-फूटने के बाद पानी पहुंचना ही दुर्लभ हो गया। पार्षद ने ग्रामीणों को आश्वस्त करते हुए कहा कि वे इस मामले को उपायुक्त के समक्ष रखेंगे। चूंकि सभी बड़ी योजनाओं को पंचायत निधि से मरम्मत, नए सिरे से निर्माण या जीर्णोद्धार कराना असंभव है। हालांकि बीडीसी से प्रस्ताव लेकर इसे जिला परिषद तक संबंधित पंचायत प्रतिनिधियों को भेजनी चाहिए।

बुद्धिबिगहा में ग्रामीण किसानों की समस्या सुनते जिला पार्षद।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Haidarnagar News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: मेंटनेंस के अभाव में पईन व बड़की आहर जर्जर, हजारों एकड़ भूमि सूखी
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Haidarnagar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×