11 हजार वोल्ट के तार की चपेट में आने से 10 मवेशियों की जान गई

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
बरही थाना क्षेत्र के पंचमाधव पंचायत के कारिमाटी गांव में शुक्रवार को विद्युत प्रवाहित ग्यारह हजार जर्जर तार टूटकर नीचे गिर गया। इस टूटे हुए तार की चपेट में आने से 10 मवेशियों की मौत हो गई। इनमें रामसहाय यादव पिता दासों यादव का पांच, सकलदेव राणा का तीन, मुरारी राणा का एक, बजन यादव का एक जानवर शामिल हैं। मरने वाले मवेशियों में 6 बैल व 4 दुधारू गाय है।

हालांकि ग्रामीणों ने तुरंत इसकी जानकारी विद्युत कार्यालय को देकर लाइन को कटवा दी। जिसके कारण कई मवेशी बिजली तार के चपेट में आने से बच गए। इस घटना से आक्रोशित ग्रामीणों ने बरही बिजली विभाग कार्यालय पहुंचकर एसडीओ का घेराव किया और जमकर विरोध जताते हुए विभाग पर लापरवाही का आरोप लगाया। घटना के बाबत पीडि़तों ने बताया कि शुक्रवार को हल्की बारिश के साथ बही तेज हवा से 11 हजार वोल्ट का जर्जर तार गिर गया। जिसके कारण उक्त स्थान पर रह रहे सभी मवेशियों की मौत मौके पर ही हो गई।

ग्रामीण विजय राणा ने बताया कि पहले भी जर्जर तार गिरने से गांव में मवेशियों की मौत हो चूकी है। इसकी सूचना बिजली विभाग को पहले भी दिया जा चुका है। कुछ दिन पहले बिजली की जर्जर तार के कारण मचान में आग भी लग चुकी है। उस समय भी विभाग से जर्जर तार बदलने की मांग किया गया था। लेकिन विभाग का चुप्पी दर्शाता हैं कि विभाग कितना लापरवाह हैं। ग्रामीणों ने विद्युत विभाग से पोल व तार को जल्द से जल्द दुरुस्त करने की मांग की है। एसडीओ सौरभ लिंडा ने मृत मवेशियों का मुआवजा भी देने का आश्वासन दिया हैं। घटना की खबर पर स्थानीय मुखिया हरेंद्र गोप भी पहुंचे। उन्होंने कहा कि जानवरों का मुआवजा मिलना चाहिए। इस गांव के अधिकांश लोग कृषि पर निर्भर हैं। जानवर के बदौलत ही वें अपना जीविकोपार्जन चलाते हैं। सभी मवेशियों का प्रखण्ड पशुपालन चिकित्सा पदाधिकारी डॉ राजीव भारती ने पोस्टमार्टम किया। मौके पर वरिष्ठ कांग्रेस नेता रमेश ठाकुर, रामसहाय यादव, बैजनाथ यादव, प्रदीप यादव, ईश्वर यादव, गणेश यादव, सरयू राणा, विजय यादव, बिनोद राणा, मनोज यादव, ब्रह्मदेव सिंह, फिरोज अंसारी, सावित्री देवी, रीना देवी सहित कई लोग मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...