• Hindi News
  • National
  • Hazaribagh News Action Will Continue Against Illegal Ultrasound Centers Ddc

अवैध अल्ट्रासाउंड सेंटरों के विरुद्ध अभी कार्रवाई जारी रहेगी : डीडीसी

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
हजारीबाग जिले का लिंगानुपात बुरी स्थिति में है। 1000 लड़कों के अनुपात में 851 लड़कियां हैं। अल्ट्रासाउंड सोनोग्राफी सेंटरों में गर्भस्थ शिशु की जांच कर गर्भपात जैसा घृणित कार्य इस असंतुलन को और बढ़ा रहा है। इसे रोकने के लिए जिले में बिना लाईसेंस के और मानकों को पूरा किए बिना चलने वाले अवैध नर्सिंग होम तथा अवैध अल्ट्रासाउंड सेंटरों की जांच का कार्य जारी रखा जाएगा। यहां बहुत से अवैध ढंग से नर्सिंग होम संचालित हुए हैं, जहां बरती जानी वाली लापरवाहियों की वजह से कई मरीजों को जान गंवानी पड़ी है। उक्त बातें जिला प्रशासन के मासिक प्रेस कांफ्रेंस में उप विकास आयुक्त विजया जाधव ने दी। प्रेस कांफ्रेंस में डीआरडीए डायरेक्टर उमा महतो, सिविल सर्जन डा कृष्ण कुमार समेत अन्य विभागों के अधिकारी भी उपस्थित थे।

बरसात के दिनों में जिले में सर्पदंश की घटनाओं में वृद्धि को देखते हुए अस्पतालों में एन्टी वेनम को लेकर पूछे गये सवाल पर सीएस ने कहा कि उन्होंने एक हजार भेल के लिए आर्डर किया है जो सोमवार की शाम तक हजारीबाग को मिल जाएगा। उप विकास आयुक्त ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में स्वास्थ्य सेवाओं के विस्तार के लिए सहियाओं को स्वास्थ्य पिटारा का वितरण विश्व योग दिवस के दिन किया गया, जिसमें प्राथमिक उपचार का एक पूरा कीट उपलब्ध है। इसके अलावा जिले के 1770 आंगनबाड़ी केंद्रों की सेविका सहायिकाओं को केंद्र में 4-5 वर्ष के बच्चों की उचित देखभाल के लिए प्रशिक्षण देने का प्रोग्राम रखा गया है। सभी आंगनबाड़ी केन्द्रों आधुनिक आंगनबाड़ी केंद्र का रूप देने का काम किया जा रहा है। जबकि खनन क्षेत्र में स्थित केंद्रों को डीएमएफटी मद से साधनों से सुसज्जित किया जा रहा है।

आगे कहा कि स्वच्छ भारत मिशन के तहत शौचालय निर्माण में जिले ने कई कीर्तिमान स्थापित किए हैं। इस क्षेत्र में हजारीबाग को राज्य एवं केंद्र सरकार से अब तक सात अवार्ड मिल चुके हैं। जिले के सभी 257 पंचायत खुले में शौच मुक्त घोषित हो चुके हैं। छूटे हुए 4186 लाभुकों के शौचालय का निर्माण कार्य प्रगति पर है।

बताया कि हजारीबाग का चयन भारत के छह जिलों में किया गया है जहां सैप्टिक टैंक से निकलने वाले मल का उचित निपटान का प्लांट लगाया जाएगा। इसके अलावा गोबर धन योजना के तहत सदर प्रखंड के दो पंचायतों गुरहेत एवं नयाखाप को लिया गया है, जहां 150-150 घरों को मिलाकर गोबर से बायोगैस बनाने का प्लांट लगाया जा रहा है। उसी प्रकार पोल्ट्री फार्मिंग में हजारीबाग अग्रणी स्थिति में है। यहां कड़कनाथ मुर्गा पालन को बढ़ावा देने के लिए 250 परिवारों को चूजे दिये जा रहे हैं। यह स्कीम फिलहाल नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में चलायी जा रही है।

12000 प्रधानमंत्री आवास योजना का है लक्ष्य

उप विकास आयुक्त ने बताया कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत वर्ष 2016-17, 2017-18 एवं 2018-19 में हजारीबाग जिले को कुल 19620 आवास निर्माण का लक्ष्य मिला था, जिसमें अब तक 17472 आवासों का निर्माण हो चुका है। जो लोग योजना राशि लेकर कार्य नही कर रहे थे उन पर कड़ाई के फलस्वरूप 89 प्रतिशत आवासों को पूर्ण कराया गया है। अब चालू वर्ष में जिले को 12000 नये आवास निर्माण कराने का लक्ष्य मिला है।

खबरें और भी हैं...