अयोध्या फैसले के बाद प्रशासन अलर्ट डीआईजी, डीसी-एसपी ने किया कैंप

Hazaribagh News - अयोध्या फैसले को लेकर हजारीबाग पुलिस प्रशासन ने सुरक्षा की जबरदस्त तैयारी की है। पांच हजार से अधिक बल तैनात किए गए...

Nov 10, 2019, 07:00 AM IST
Hazaribagh News - after the ayodhya verdict the administration alerts dig dc sp camp
अयोध्या फैसले को लेकर हजारीबाग पुलिस प्रशासन ने सुरक्षा की जबरदस्त तैयारी की है। पांच हजार से अधिक बल तैनात किए गए हैं। साइबर क्राइम पर नजर रखने के लिए कंट्रोल रूम में साइबर सेल स्थापित किया गया है। शनिवार को पुलिस लगातार अलर्ट पर रही। नौ बजे सुबह से ही हजारीबाग रेंज के डीआईजी पंकज कंबोज, डीसी भुवनेश प्रसाद सिंह, एसपी मयूर पटेल व अन्य अधिकारी कंट्रोल रूम पहुंच गए। जहां से शहर में लगे 220 सीसीटीवी कैमरे से हरेक गतिविधियों पर नजर रखी जाने लगी। दो बजे तक सभी अधिकारी कंट्रोल रूम में कैंप करते रहे।

जबकि एसडीपीओ कमल किशोर व एएसपी सदर थाना में कैंप किए हुए थे। कंट्रोल रूम से हालात की निगरानी के लिए वहां अलग-अलग सेल बनाया गया है, जहां एक सेल सीसीटीवी कैमरे पर वाॅच कर रहा था तो दूसरा सेल जिले भर से आने वाले संभावित फोन ड्यूटी को निभा रहा था। वहीं तीसरा सेल सोशल मीडिया की हरेक गतिविधियों पर नजर रखे हुए था। टेक्निकल एक्सपर्ट वाट्सएप, फेसबुक एवं मैसेज को देख रहे थे। वहीं डीएसपी मुख्यालय विवेकानंद ठाकुर कटकमसांडी, मुफ्फसिल एरिया में राउंड लगा रहे थे तो एसडीपीओ अनिल सिंह बड़कागांव, उरीमारी, कटकमदाग व केरेडारी थाना क्षेत्र में राउंड लगा रहे थे।

एचएमसीएच अस्पताल भी था अलर्ट पर, इमरजेंसी के लिए एक दर्जन एम्बुलेंस रही तैनात

अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद शहर में बढ़ी सुरक्षा-व्यवस्था।

संवेदनशील इलाकाें में हाे रही थी पेट्राेलिंग, हरेक चौराहे पर जवान

इधर उपायुक्त भुवनेश प्रताप सिंह के निर्देश पर हजारीबाग मेडिकल कॉलेज हास्पिटल को सुबह से हीं अलर्ट पर रखा गया है। इमरजेंसी वार्ड चालू कर दिया गया है। किसी भी संभावित घटना को लेकर एक दर्जन एम्बुलेंस अस्पताल परिसर में अलर्ट पर रखे गए हैं। शहर के हरेक चौक चौराहों पर जिला बल, सीआईएसएफ, जैप व रैफ के जवानों को तैनात किया गया है। चार एक का बल हरेक चौराहे पर ड्यूटी में लगाए गए हैं। संवेदनशील इलाकों में लगातार पुलिस पेट्रोलिंग जारी है। इनके अलावा मोटरसाइकिल दस्ता भी राउंड लगा रहा है। जिले में पांच हजार से अधिक बल तैनात किए गए हैं। शहर में सुरक्षा व्यवस्था के मद्दे नजर सुबह छह बजे से दो बजे तक मजिस्ट्रेट ड्यूटी पर धनु राम एवं दो बजे से रात 10 बजे तक प्रो अशोक कुमार ड्यूटी पर तैनात रहे। जबकि साइबर सेल पर विमल ठाकुर, बलराम महतो, सीसीटीवी कैमरे को विनय कुमार एवं आने वाली सूचना को जितेंद्र कुमार देख रहे थे।

जिले भर के सभी थाना अाेपी, टीअाेपी थे अलर्ट

अयाेध्या मामले में फैसले काे लेकर जिले भर के सभी थाना, ओपी, टीओपी को अलर्ट पर रखा गया था। वहीं कंट्रोल रूम से एसपी हरेक थाना क्षेत्र की गतिविधियों की जानकारी ले रहे थे। जबकि डीआईजी कंबोज रेंज के हरेक जिले की वस्तुस्थिति का जायजा लेते रहे। एसपी पटेल ने बताया कि तत्काल शहर व जिले भर के हालात सामान्य हैं पर पुलिस अलर्ट पर है। सोशल मीडिया की हरेक गतिविधियों पर हमारी पैनी नजर है। माहौल बिगाड़ने या अफवाह फैलाने की किसी ने भी कोशिश की तो उनकी खैर नही।

एहतियात के लिए हजारीबाग में 60 दिनों तक निषेधाज्ञा लागू

अयोध्या मामले में फैसले के बाद पहली बार सोशल मीडिया पर भी निषेधाज्ञा

भास्कर न्यूज | हजारीबाग

अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद हजारीबाग जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन ने एहतियाती कदम उठाये हैं, जिसके तहत पूरे जिले में फिलहाल 60 दिनों (दो महीने)के लिए दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लगा दी गई है। वहीं सोशल मीडिया पर पहली बार 144 लागू करने की बात कही गई ताकि फेसबुक, वाट्सअप, ट्विटर आदि पर कोई आपत्तिजनक बातें न आ सके। माहौल को बिगाड़ने वाले मैसेज डालने या फारवर्ड करने वालों के विरूद्ध सख्त कार्रवाई करने की बात कही गई है। निषेधाज्ञा लागू रहते किसी को सभा, जुलूस आदि निकालने की बिल्कुल इजाजत नही है। कोर्ट का फैसला आने के बाद जिला के उपायुक्त डाॅ. भुवनेश प्रताप सिंह एवं पुलिस अधीक्षक मयूर पटेल ने संयुक्त रूप से प्रेस कांफ्रेंस की जिसमें जिले में शांति व्यवस्था बनाये रखने के लिए उठाये गये कदमों की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि फिलहाल दो महीने के लिए निषेधाज्ञा लगाई गई है मगर उम्मीद है दो चार दिनों में हालात सामान्य हो जाएंगे।

प्रेस वार्ता में जानकारी देते डीसी व एसपी।

सोमवार को बंद रहेंगे सभी शिक्षण संस्थान

अधिकारियों ने बताया कि फैसला आने के बाद साेमवार 11 नवंबर तक के लिए सभी सरकारी, गैर सरकारी शिक्षण संस्थानों को बंद रखने का आदेश दिया गया है। इस दौरान शराब दुकानों को भी बंद रखने का आदेश दिया गया है। उपायुक्त ने कहा कि इस मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्मान करना सभी का दायित्व है लेकिन उसकी आड़ में विधि व्यवस्था को चुनौती देने की इजाजत किसी को नही है। कहा कि यह एक संवेदनशील मसला है। इस समय शांति व्यवस्था, जिला, राज्य और देश के लिए महत्वपूर्ण है। सबों को आंतरिक एवं बाह्य शक्तियों से सतर्क रहने की जरूरत है।

आज नहीं निकाला जाएगा जुलूस-ए-मोहम्मदी

एसपी मयूर पटेल ने कहा कि अंजुमन इस्लामिया के लोगों ने आपस में सलाह मशवरा करने के बाद कहा है कि वे लाेग विधि व्यवस्था को बनाये रखने में प्रशासन के साथ हैं। इस बार जुलूस नहीं निकालकर लोकल एरिया में सांकेतिक रूप से त्यौहार मनाएंगे।

फैसला आने की संभावना पर पहले से थी तैयारी : एसपी मयूर पटेल ने कहा कि कोर्ट का फैसला आने की संभावना के मद्देनजर पुलिस प्रशासन पहले से तैयारी में था। चार कंपनी सीआईएसएफ, एक कंपनी सीआरपीएफ, रैफ व जिला बल लगातार पेट्रोलिंग कर रही है।

Hazaribagh News - after the ayodhya verdict the administration alerts dig dc sp camp
Hazaribagh News - after the ayodhya verdict the administration alerts dig dc sp camp
X
Hazaribagh News - after the ayodhya verdict the administration alerts dig dc sp camp
Hazaribagh News - after the ayodhya verdict the administration alerts dig dc sp camp
Hazaribagh News - after the ayodhya verdict the administration alerts dig dc sp camp
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना