अाज से 40 दिन अध्यात्म में बिताएं मसीही : बिशप जाेजाे

Hazaribagh News - राख बुध के चालीस दिन बाद गुड फ्राई डे मनाया जाता है। अतः आज के दिन से पुण्य शुक्रवार (गुड फ्राइडे)तक का दिन पुण्य...

Feb 27, 2020, 07:01 AM IST

राख बुध के चालीस दिन बाद गुड फ्राई डे मनाया जाता है। अतः आज के दिन से पुण्य शुक्रवार (गुड फ्राइडे)तक का दिन पुण्य दिन माना जाता है। यह समय अध्यात्म और प्रार्थनामय जीवन व्यतीत करने का समय होता है। राख बुध के अवसर पर महागिरजाघर कैथोलिक आश्रम में पवित्र मिस्सा पूजा का आयोजन हुआ। सभी ईसाई समुदाय के लोगों ने माथे पर पवित्र राख से क्रूस का चिह्न का लेप लिया । इस मिस्सा पूजा के मुख्य अनुष्ठाता हजारीबाग के बिशप आनंद जोजो थे। उनका साथ फादर दया किशोर, फा. रेमण्ड सोरेंग, फा. टॉमी, फा. मनोज तिर्की, फा. पौलुस, फा. कमलेश, फा. विजय टेटे, डिक्कन सेल्बेस्टर ने दिया। बिशप आनंद ने अपने संदेश में कहा कि यह पवित्र राख पश्चाताप का प्रतीक है और इस चालीसा में हमारा जीवन मानव सेवा में बिताएं। गरीबों को मदद करें, दान पुण्य करें। बिशप आनंद ने समुदाय से अपील की कि यह चालीसा का दिन उपवास और परहेज और संयम में बिताएं। इस अवसर पर होलीक्रॉस की प्रोविंशियल सिस्टर रोसली, सिस्टर अग्नेश आदि प्रमुख रूप से उपस्थित थीं। मिस्सा पूजा का भक्ति गीत का संचालन संत अन्ना की धर्मबहनें और छात्रावास की छात्राएं द्वारा किया गया। आज के बाद गुड फ्राइडे तक प्रत्येक शुक्रवार को शाम चार बजे प्रभु यीशु को सूली पर चढ़ाने और मृत्यु की याद में दुःख भोग (क्रूसरास्ता) प्रार्थना की जाएगी। आज के मिस्सा पूजा में करितास इंडिया के कोर्डिनेटर एडरेन कुजूर भी उपस्थित थे। कार्यक्रम को सफल बनाने में प्रचारक फरदिनंद लकड़ा, कैथोलिक सभा, महिला संघ और युवा संघ के सदस्यों ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

मिसा पूजा कराते बिशप व पुरोहित ।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना