हैदराबाद की अांच पहुंची हजारीबाग

Hazaribagh News - हैदराबाद घटना और छेड़खानी के विरोध में उपायुक्त को ज्ञापन सौंपती छात्राएं। हजारों छात्राएं रैली निकाल पहुंचीं...

Dec 04, 2019, 09:01 AM IST
हैदराबाद घटना और छेड़खानी के विरोध में उपायुक्त को ज्ञापन सौंपती छात्राएं।

हजारों छात्राएं रैली निकाल पहुंचीं कलेक्ट्रेट उपायुक्त से मांगी सुरक्षा

छात्राअाें ने कहा- घर से काॅलेज अाना-जाना मुश्किल हाे गया है

भास्कर न्यूज| हजारीबाग

सर हम भय के माहौल में जी रहे हैं। कॉलेज आना-जाना दूभर हो गया है। यह बातें केबी महिला कॉलेज की छात्राओं ने समाहरणालय पहुंच कर डीसी के समक्ष अपना दर्द बयां करते हुए कही। वे सुरक्षा की मांग कर रही थीं। यह सब मंगलवार को दोपहर में हुआ। छात्राओं ने डीसी से कहा कि सर, केवी महिला कॉलेज और विभिन्न स्कूलों के सामने लड़के गंदे अाैर आपत्तिजनक कमेंट कर भाग जाते हैं।

कल कुछ लड़कियां गुपचुप खा रही थीं तभी एक मनचले ने आपत्तिजनक कमेंट किया। बुढ़वा महादेव मंदिर तालाब की चहारदीवारी पर मनचले बैठे रहते हैं। अन्नदा चौक की तरफ से प्रधान कैफेटेरिया बुढ़वा महादेव के पीछे शॉर्टकट रास्ते से आने पर ज्यादा छेड़खानी की घटना होती है। पहले पिंक पेट्रोलिंग गाड़ी आती थी। अब नहीं आती है। डीसी ने छात्राअाें से पूछा -कमेंट करने वाले काे पहचानते हो, फोटो लिया है। फिर कहा कि यहां तीन महिला आईएएस अधिकारी हैं जिनका नंबर ले लो। अब जब भी ऐसी घटना हो, हजारीबाग डिस्ट्रिक्ट एडमिनिस्ट्रेशन के एप और सी विजील एप पर इसकी जानकारी दो। कल से पेट्रोलिंग होगी। डरने की जरूरत नहीं।

इससे पूर्व हैदराबाद में डॉ प्रियंका रेड्डी के साथ हुई घटना के विरोध में मंगलवार को हजारों छात्राएं स्वत:स्फूर्त इकट्ठा हुईं जहां उनके मन में दबा गुस्सा फूट पड़ा और वे सड़क पर उतर आई। हजारों छात्राओं की भीड़ रैली की शक्ल में तब्दील हुई और वे कतारबद्ध हो हाथों में तख्तियां लिए समाहरणालय पहुंच गईं। रैली अनुशासित और शांतिपूर्ण थी। तख्तियों में आई वांट जस्टिस, वी वांट सेफ्टी, महिला अत्याचार बंद करो, बंद करो बंद करो, महिला सुरक्षा मजबूत करो, मजबूत करो लिखा हुआ था।

जब वे समाहरणालय पहुंचीं उस समय डीसी डॉ. भुवनेश प्रताप सिंह, एसपी मयूर पटेल सूचना भवन में चुनाव की तैयारी बैठक कर रहे थे। 15 से 20 मिनट तक समाहरणालय परिसर छात्राओं के विरोध-प्रदर्शन व नारों से गूंजता रहा। महिला प्रशिक्षु आईएएस समीरा एस ने छात्राओं के प्रतिनिधिमंडल को बुलाया अाैर इसकी जानकारी डीसी को दी। डीसी ने बैठक छोड़कर प्रतिनिधिमंडल को बुलाया। छात्राओं ने हैदराबाद में डॉ प्रियंका रेड्डी के साथ हुई घटना के विरोध में न्याय की मांग करते हुए ज्ञापन सौंपा, फिर इस बहाने कॉलेज एवं स्कूल कैंपस के बाहर बढ़ रही छेड़खानी की घटनाओं की जानकारी देते हुए प्रशासन से सुरक्षा की मांग की।

हजारीबाग काे हैदराबाद बनने से बचाइए डीसी सर, केबी महिला कॉलेज के सामने मनचले राेज करते हैं छेड़खानी

छात्राओं ने बताए छेड़खानी के स्पॉट : बुढ़वा महादेव तालाब, अन्नदा काॅलेज की अाेर से प्रधान कैफेटेरिया के पीछे

काम नहीं कर रहे शक्ति एप व डायल 1008 नंबर

महिलाओं की सुरक्षा के लिए हजारीबाग में सीसीआर डीएसपी का पद सृजित है। अमिता लकड़ा पदस्थापित है। महिला थाना है। जिसके थाना प्रभारी मुकेश कुमार साह हैं। कॉलेज की लड़कियों की सुरक्षा के लिए पिंक पेट्रोलिंग महिला थाने के जिम्मे है। महिलाओं की सुरक्षा को लेकर शक्ति एप बनाया गया है। जिसमें सूचना देने पर जीपीएस के आधार पर लोकेशन का पता पुलिस को चल जाता था। पुलिस कुछ ही समय में घटनास्थल पर पहुंच जाती थी। कुछ दिन काम करने के बाद सारा सुरक्षात्मक सिस्टम डिस्लोकेट हो गया। वह काम नहीं कर रहा है। 1008 नंबर काम नहीं कर रहा है। राज्य मुख्यालय के निर्देश के बावजूद सरकारी एवं गैर सरकारी विद्यालयों में सुरक्षा को लेकर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं या नहीं। इसे देखने की फुर्सत किसी को नहीं है। सीसीआर व महिला थाना इस मुद्दे पर डी इफेक्टिव हो गए हैं।

सीसीटीवी कैमरों की जांच कर मनचलों पर होगी कड़ी कार्रवाई : एसडीपीओ

एसडीपीओ सदर कमल किशोर ने कहा कि सरकारी व गैर सरकारी स्कूल, कॉलेज व अन्य शैक्षणिक संस्थानों में सीसीटीवी कैमरे लगे हैं या नहीं। अगर लगे हैं तो वे काम कर रहे हैं या नही इसकी जांच बुधवार से शुरू की जाएगी। स्कूल कॉलेजों के आसपास छेडख़ानी करने वाले के खिलाफ आज से लगातार अभियान चलाया जाएगा। महिला कॉलेज के सामने पढ़ाई के अवधि में पेट्रोलिंग गाड़ी खड़ी रहेगी। सदर थाना के प्रशिक्षु सब इंस्पेक्टरों को अभियान में लगाया जाएगा। अब ऐसे मनचलों की खैर नही होगी।

डीसी कार्यालय में अपनी सुरक्षा को लेकर प्रदर्शन करती स्कूल और कॉलेज की सैकड़ों छात्राएं।

कैंपस के बाहर लड़कियों को सुरक्षा देना प्रशासन का काम : डाॅ. रेखा

केबी महिला महाविद्यालय की प्राचार्या डॉक्टर रेखा रानी ने कहा कि कैंपस के अंदर सुरक्षा को लेकर सीसीटीवी कैमरे लगे हैं। मुख्य द्वार पर गार्ड तैनात हैं। गेट के सामने जो कैमरा लगा है, वह रिपेयर में गया हुआ है। कैंपस के बाहर लड़कियों को सुरक्षा देना प्रशासन का काम है। लड़कियों की सुरक्षा को लेकर कॉलेज प्रशासन काफी सख्त है। यहां पढ़ने वाली छात्राओं को आत्मरक्षा करने की सीख दी जाती है। छात्राओं को शक्ति एप का प्रशिक्षण दिया गया था। पहले पिंक गाड़ी भी खड़ी रहती थी। अब सब बंद हो गया है।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना