ओमी चौधरी हत्याकांड के आरोपी की पत्नी ने डीएसपी से लगाई गुहार

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
ओमी चौधरी हत्याकांड मामले के आरोपी नान्हू राणा की प|ी उमा देवी ने बड़कागांव पुलिस अनुमंडल पदाधिकारी अनिल कुमार सिंह को आवेदन देकर नाम विमुक्त करने की मांग की है। उमा देवी ने आवेदन में लिखा है कि मेरे पति कई वर्षों से अपने दुकान में ही हमेशा व्यस्त रहे हैं। जिसे सीसीटीवी कैमरे के रिकॉर्ड में देखा जा सकता है।

मेरे पति के फलते फूलते व्यवसाय पर कुछ लोगों को खटकती है। नाजायज तरीके से पैसे की चाहत रखने वाले लोगों के द्वारा मनगढ़ंत तरीके से आर्थिक व मानसिक रूप से पीड़ा देने हेतु केस में नाम दिलवाया गया है। स्वार्थी लोगों के मार्गदर्शन में द्वारिका पासी द्वारा बड़कागांव थाना कांड संख्या 82/19 में मेरे पति को प्राथमिक नामजद अभियुक्त बनाया गया है। जबकि मेरे पति का ओमी चौधरी के परिवार, हत्यारों एवं अभियुक्तों से दूर दूर तक कभी कोई निकटवर्ती संबंध या लेनदेन या विवाद नहीं रहा है।

वर्तमान में भी द्वारका पासी एवं ओमी चौधरी से कोई लेन देन अथवा जमीन जायदाद आदि का किसी तरह का कोई विवाद नहीं है और ना पहले था। इसकी प्रतिलिपि बड़कागांव थाना प्रभारी को भी दी गई है। ओमी चौधरी की हत्या 20 जून को गोली मारकर कर दी गई थी। मामले में छह लोगों पर मामला दर्ज किया गया है।

खबरें और भी हैं...