Hindi News »Jharkhand »Itki» बिजली नहीं रहने से सूख रही सब्जी की फसल, कर्ज में डूबे किसान

बिजली नहीं रहने से सूख रही सब्जी की फसल, कर्ज में डूबे किसान

सब्जी की खेती के लिए न सिर्फ रांची बल्कि पूरे देश में प्रसिद्ध चान्हो प्रखंड के पतरातू के किसान बिजली नहीं मिलने...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 12, 2018, 02:55 AM IST

  • बिजली नहीं रहने से सूख रही सब्जी की फसल, कर्ज में डूबे किसान
    +1और स्लाइड देखें
    सब्जी की खेती के लिए न सिर्फ रांची बल्कि पूरे देश में प्रसिद्ध चान्हो प्रखंड के पतरातू के किसान बिजली नहीं मिलने से खून के आंसू रोने को विवश हैं। कभी नकली बीज, कभी मौसम की मार तो कभी सब्जियों के गिरे दाम से परेशान किसानों का फूलगोभी इस साल बिजली की आंख-मिचौनी के कारण बर्बाद हो रहा है। पतरातू गांव में लगभग तीन सौ एकड़ में लगी फूलगोभी की फसल सिंचाई के अभाव में मरने के कगार पर है। इससे लाखों रुपए के नुकसान की आशंका व्यक्त किया जा रहा है। किसान रातभर जागकर बिजली आने का इंतजार करते रहते हैं, लेकिन बिजली नहीं आती है।

    फूलगोभी की खेती सूखने के कगार पर

    केसीसी लोन सहित निजी कर्ज लेकर किसानों ने की है सब्जियों की खेती

    पत्तागोभी, टमाटर, कद्दू, नेनुआ, भिंडी, हरा मिर्च, करेला सहित अन्य फसल सूख रहे हैं

    24 घंटे में दो घंटे भी नहीं मिल रही बिजली

    इटकी | मल्टी गांव में भी पटवन के अभाव में सब्जी की खेती सूख रहे हैं। शुक्रवार को किसानों की बैठक हुई। इसमें मुख्य अतिथि जिप सह योजना समिति के सदस्य लाल रामेश्वर नाथ शाहदेव ने कहा कि बिजली की लचर व्यवस्था से किसानों के खेत पानी के बिना सूख गए हैं। लाखों रुपए खर्चकर दर्जनों किसानों ने अपने खेतों में पटवन के लिए बोरिंग करवाया है। बिना बिजली के सब बेकार हो गए हैं। बोरिंग करवाने के बाद ज्यादातर किसानों ने कुआं या तो भरवा दिया या स्वतः उसके पानी सूख गए।

  • बिजली नहीं रहने से सूख रही सब्जी की फसल, कर्ज में डूबे किसान
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Itki

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×