Hindi News »Jharkhand »Itki» इटकी कॉलेज में 10 माह से नहीं आ रहे 6 शिक्षक, प्रमुख विषयों की पढ़ाई ठप

इटकी कॉलेज में 10 माह से नहीं आ रहे 6 शिक्षक, प्रमुख विषयों की पढ़ाई ठप

लाल मोहननाथ शाहदेव मेमोरियल इंटर महाविद्यालय, इटकी में कुछ शिक्षकों के लगातार अनुपस्थित रहने के प्रमुख विषयों की...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 11, 2018, 03:00 AM IST

इटकी कॉलेज में 10 माह से नहीं आ रहे 6 शिक्षक, प्रमुख विषयों की पढ़ाई ठप
लाल मोहननाथ शाहदेव मेमोरियल इंटर महाविद्यालय, इटकी में कुछ शिक्षकों के लगातार अनुपस्थित रहने के प्रमुख विषयों की पढ़ाई नहीं हो पा रही है। इससे महाविद्यालय में अध्ययनरत विद्यार्थियों का भविष्य अधर में लटक गया है। कॉलेज के शिक्षक व शिक्षकेतर कर्मचारियों ने ऐसे व्याख्याताओं के खिलाफ गुरुवार को विधायक सह कॉलेज के शासी निकाय की अध्यक्ष गंगोत्री कुजूर और सचिव लाल रामेश्वरनाथ शाहदेव से मिलकर ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में कॉलेज के उन सभी व्याख्याताओं को हटाने की मांग की गई है, जो पिछले साल जुलाई (10 माह) से लगातार महाविद्यालय नहीं आ रहे हैं। उनकी जगह नए शिक्षकों की नियुक्ति या वैकल्पिक व्यवस्था करने की मांग की गई है, ताकि कॉलेज में पठन-पाठन सुचारू ढंग से चल सके। कहा गया है कि झारखंड अधिविद्य परिषद द्वारा आयोजित 11वीं की परीक्षा के दौरान भी ये शिक्षक महाविद्यालय नहीं आए। कॉलेज में ज्यादातर विषयों की पढ़ाई नहीं होने से विद्यार्थियों की संख्या में भी भारी कमी आई है। आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र का यह एकमात्र महाविद्यालय आज कुछ शिक्षकों की वजह से छात्रों की कमी का दंश झेल रहा है, जो कर्मचारी व शिक्षक लगातार महाविद्यालय आ रहे हैं, उनमें भी निराशा का भाव घर करता जा रहा है।

कॉलेज शासी निकाय की अध्यक्ष गंगोत्री कुजूर को ज्ञापन सौंपते इटकी कॉलेज के शिक्षक-शिकक्षेतर कर्मी।

विद्यार्थियों के भविष्य से खिलवाड़ बर्दाश्त नहीं। जल्द ही शासी निकाय की बैठक बुलाकर इस गंभीर मामले पर सर्वसम्मति से निर्णय लिया जाएगा।- गंगोत्री कुजूर, अध्यक्ष इटकी कॉलेज

यह मामला काफी गंभीर है। बहुत जल्द अध्यक्ष की अनुमति से शासी निकाय की बैठक बुलाई जाएगी और विधि संगत कार्रवाई की जाएगी। - लाल रामेश्वरनाथ शाहदेव, सचिव इटकी कॉलेज

न तो कॉलेज आए और न ही शोकॉज का जवाब दिए

ज्ञापन में जिन शिक्षकों को हटाने की मांग की गई है, उनमें अर्थशास्त्र के अनिल कुमार, वाणिज्य के वीरेंद्र कुमार गोप, भौतिकी के राकेश प्रसाद सिंह, भूगोल के गुलाम मुर्तजा व अंग्रेजी के व्याख्याता जावेद शाहिद शामिल हैं। इसके अलावा वनस्पति शास्त्र के व्याख्याता इकबाल हसन आजाद भी फरवरी 2018 से लगातार अनुपस्थित हैं। प्रभारी प्राचार्य रंजन कुमार सिंह ने इन सभी शिक्षकों को शोकॉज किया था, लेकिन इन लोगों ने उसे नजरअंदाज कर दिया। न तो कॉलेज आए और न ही शोकॉज का जवाब दिए।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Itki

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×