--Advertisement--

इटकी में भी खानापूर्ति बनकर रह गया जनता दरबार

इटकी प्रखंड में लगाया गया जनता दरबार महज खानापूर्ति बनकर रह गया। स्थानीय लोगों ने कहा कि समस्याओं का समाधान ऑन द...

Dainik Bhaskar

Jul 05, 2018, 03:00 AM IST
इटकी प्रखंड में लगाया गया जनता दरबार महज खानापूर्ति बनकर रह गया। स्थानीय लोगों ने कहा कि समस्याओं का समाधान ऑन द स्पॉट नहीं हो सका। लोग अपनी समस्याओं से भरा आवेदन जमा कराकर घर चले गए।

जनता दरबार में बैंक व बिजली विभाग का स्टॉल बिल्कुल खाली था। 300 से ज्यादा संख्या में लोग गैस सिलेंडर पाने की उम्मीद से जनता दरबार पहुंचे थे। इनमें 260 लोगों को मुफ्त में गैस व चूल्हा दिए गए। भंडरा निवासी अवधेश महतो ने विधायक व अधिकारियों के समक्ष कहा कि उन्हें अब तक प्रधानमंत्री आवास नहीं मिला है जबकि उसने आवेदन के साथ बिचौलिए को आवास दिलाने के नाम पर कुछ रुपए भी दिया है। दरबार में उनकी बातों को नजरअंदाज कर दिया गया। इसी तरह आवास नहीं मिलने के कई आवेदन दिए गए। समाज के अध्यक्ष सरवन यादव ने लिखित आवेदन देकर मांग किया है कि साहब मोड़ से मोरो तक, बाजार से मल्टी तक की जर्जर सड़क कि अविलंब मरम्मत कराई जाए। केसरी तालाब के निकट सोलर सिस्टम के तहत एक मिनी जलमीनार लगाकर पेयजल की समस्या दूर किया जाए। जनता दरबार में जिला से प्रतिनियुक्त चार पदाधिकारियों में दो पदाधिकारी मौजूद थे। प्रखंड परिसर में कुल 20 स्टॉल लगाए गए थे। जनता दरबार को सफल बनाने के लिए अंचल व प्रखंड के कर्मचारियों के अलावा जनप्रतिनिधियों की भागीदारी रही। विभाग द्वारा लगाए गए स्टॉल में संबंधित जानकारी भी लोगों को दी जा रही थी। विभाग व बैंक के एक भी कर्मचारी जनता दरबार में भाग नहीं लिए, जिससे लोगों में रोष देखने को मिली।

जनता दरबार में विधायक गंगोत्री कुजूर, जिप सदस्य लाल रामेश्वर नाथ शाहदेव, 20 सूत्री अध्यक्ष राजेश्वर महतो, सांसद प्रतिनिधि मनोज महतो, उपप्रमुख उरूज अंसारी, पंसस जगमोहन महतो, मुखिया तेतरी उराइन, मंजु देवी, निर्मला भेंगरा, सधनु मिंज, मेलोनी, सरोजिनी, सरिता, पूनम देवी, आभा कुमारी, नूतन प्रखंड प्रोग्राम पदाधिकारी आशा रेजिना, मंजु राम, महिला पर्यवेक्षक संध्या गुप्ता, महिला प्रसार पदाधिकारी गीता देवी, मो मुर्तजा, हाजी मोइनुद्दीन, बीर बहादुर दुबे, सुभाष दुबे, प्रदीप गोप सहित अन्य लोग भाग लिए। मंच का संचालन बीपीओ पम्मी सिन्हा ने किया। धन्यवाद ज्ञापन बीडीओ सुरेंद्र उरांव ने किया।

लापरवाही

केसरी तालाब के निकट सोलर सिस्टम के मिनी जलमीनार लगाकर पेयजल की समस्या दूर करने की मांग

X

Recommended

Click to listen..