--Advertisement--

सेंगल ने फूंका सीएम और 42 विधायकों का पुतला

कुड़मी को आदिवासी बनाने, भूमि अधिग्रहण बिल और गलत स्थानीय नीति के विरोध में शनिवार को अादिवासी सेंगल अभियान ने...

Danik Bhaskar | Mar 04, 2018, 02:40 AM IST
कुड़मी को आदिवासी बनाने, भूमि अधिग्रहण बिल और गलत स्थानीय नीति के विरोध में शनिवार को अादिवासी सेंगल अभियान ने दामोदरपुर मुख्य सड़क पर मुख्यमंत्री रघुवर दास व 42 विधायकों का पुतला दहन किया। इससे पूर्व बड़ामहुलडीहा गांव में मुचिया सिंकु की अध्यक्षता में बैठक किया गया। मौके पर प्रखंड संयोजक जयसिंह सिंकू ने कहा सरकार जबर्दस्ती अपनी नीति लागू कर आदिवासियों को कुचला चाहती है। आदिवासियों को सरकार व शंकराचार्य जैसे लोग हिन्दू कह कर अपमानित कर रहे हैं। प्राकृतिक पूजक आदिवासियों को अलग धार्मिक कोड नहीं देने के लिए बेतुका बयान देकर भ्रमित करने का प्रयास किया जा रहा है। भूमि अधिग्रहण बिल केंद्र सरकार से वापस होने के बावजूद फिर से भेज दिया गया है। इसी से साफ पता चला है कि सरकार की मानसिकता क्या है। सारंडा जैसे खनिज संपदा वाले घने जंगल में हाथी कॉरिडोर के नाम 214 गांवों के आदिवासियों को सरकार उजाड़ना चाहती है।

इस मौके पर मुख्य रुप से प्रखंड अध्यक्ष सागर सिंकू, बिनी प्रसाद सिंकू,बिनु सिंह सिंकू, सुखलाल सिंकू,राम प्रसाद सिंह, श्रीगोपाल सिंकू,चंद्रमोहन सिंकू, बंसती सिंकू, सीता सिंकू, शांति सिंकू, पाडु बादुडी, त्रिभुवन सिंकू, गंगाराम सिंकू, पाने सिंकू, जनकी सिंकू, सुशिला सिंकू, मोनी कोड़ा, मधुरी सिंकु सहित काफी संख्या में महिला पुरूष उपस्थित थे।

सड़क पर मुख्यमंत्री व 42 विधायक का पुतला दहन करते लोग।