• Home
  • Jharkhand News
  • Jagannathpur
  • दिन में तीखी धूप, शाम को कहीं गिरे ओले, कहीं चली आंधी
--Advertisement--

दिन में तीखी धूप, शाम को कहीं गिरे ओले, कहीं चली आंधी

भास्कर न्यूज |चाईबासा, सरायकेला, खरसावां पश्चिमी सिंहभूम और सरायकेला खरसावां में शनिवार की शाम अचानक मौसम ने...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 02:45 AM IST
भास्कर न्यूज |चाईबासा, सरायकेला, खरसावां

पश्चिमी सिंहभूम और सरायकेला खरसावां में शनिवार की शाम अचानक मौसम ने करवट ली। चाईबासा चक्रधरपुर सहित कई जगहों पर शाम को तेज हवाएं चलीं। एेसा लगा कि बारिश होगी, लेकिन कुछ ही देर में मौसम साफ हो गया। वहीं, सरायकेला खरसावां में बर्फ के गोले गिरे। कई जगहों में मौसम में अचानक बदलाव से तापमान में गिरावट दर्ज की गयी है। सरायकेला खरसावां में तेज आंधी के साथ हुई हल्की बारिश ने लोगों को राहत दी। भीषण गर्मी को लेकर शनिवार को लोग घरों में दुबके रहे। वही दोपहर से मौसम के रूख में बदलाव का अहसास होने लगा था। धीरे-धीरे आसमान में काले बादल छाने लगे, तेज हवा चलने लगी। लगभग शाम चार बजे से सरायकेला खरसावां कुचाई आदि जगहों पर तेज आंधी के साथ बारिश शुरू हो गई। साथ में ओले भी गिरने लगे। लगभग आधे घंटे तक ओले से साथ हुई बारिश ने तापमान गिरा दिया। उधर, कुचाई क्षेत्र में बारिश रूकते ही शाम साढे चार बजे खरसावां क्षेत्र में बारिश के साथ ओले गिरना शुरू हो गए। लगभग बीस मिनट तक बारिश के साथ ओले गिरते रहे। जगह-जगहों पर पचास ग्राम से लेकर पांच सौ ग्राम तक के ओले गिरे। ओले गिरने से खपरैल के मकान क्षतिग्रस्त हुए। किसानों को नुकसान हुआ है।

खरसावां : खरसावां में भारी बारिश के साथ गिरे बड़े बड़े ओले।

दो अप्रैल तक छाए रह सकते हैं बादल

सरायकेला : जमीन पर गिरे ओले।

जगन्नाथपुर। बंगाल की खाड़ी मे हवा का कम दबाव पड़ने के कारण शनिवार की शाम कई जगहों पर आंधी तूफान आया। हवा जोरों से बहने लगी। देखते ही देखते आकाश में बादल छा गए। मौसम विभाग की मानें, तो 2 अप्रैल तक आकाश में बादल छाया रहेगा। शनिवार को हवा की गति 40 45 किमी प्रति घंटा की रफ्तार रही। 1 और 2 अप्रैल को हवा की गति 45 -55 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से रहेगी। गरज के साथ छींटे पड़ने की संभावना प्रबल है। कृषि विज्ञान केन्द्र पश्चिम सिंहभूम जगन्नाथपुर के मुख्य समन्वयक डॉ. प्रमोद कुमार ने बताया कि वर्षा होने की पूरी संभावना है। यदि बारिश होती है तो सब्जी के किसानों को भारी नुकसान उठाना पड़ेगा। मौसम वैज्ञानिकों की मानें तो हल्की ओला वृष्टि हो सकती है। सोमवार तक मौसम में नमी बनी रहेगी।