--Advertisement--

बच्चे को शिक्षा मिले यह अभिभावक का दायित्व

शनिवार को प्रखंड सभागार में गैर सरकारी संस्था एस्पायर द्वारा एक दिवसीय विद्यालय प्रबंधन समिति व शिक्षा का अधिकार...

Dainik Bhaskar

Apr 01, 2018, 02:45 AM IST
बच्चे को शिक्षा मिले यह अभिभावक का दायित्व
शनिवार को प्रखंड सभागार में गैर सरकारी संस्था एस्पायर द्वारा एक दिवसीय विद्यालय प्रबंधन समिति व शिक्षा का अधिकार अधिनियम कानून का कार्यशाला की गई। इस कार्यशाला का संचालन संस्था के कार्यकर्ता धर्मदेव गोप ने किया, जबकि धन्यवाद ज्ञापन विशाल गोप ने दिया। इस अवसर पर प्रखंड के विभिन्न स्कूलों के 150 विद्यालय प्रबंधन समिति के सदस्य उपस्थित थे। इस अवसर पर प्रखंड समन्वयक एस रमेश ने शिक्षा के अधिकार, विद्यालय प्रबंधन समिति के कर्तव्य व बाल विवाह एक अपराध के बारे में विस्तृत जानकारी दिया। रमेश ने संस्था की उपलब्धी को प्रबंधन समिति के समक्ष रखा। उन्होंने कहा कि प्रत्येक लोगों के लिए शिक्षा का अधिकार महत्वपूर्ण है। शिक्षा हमे जीने का सही तरीका व मार्ग दर्शन देता है। शिक्षा के बिना मनुष्य पशु समान होता है, एक बच्चा शिक्षित होता है तो एक पीढ़ी का निर्माण होता है। उन्होंने कहा कि 1 से 8 वर्ष तक के बच्चों को गुणवतापूर्ण शिक्षा मिले यह हर अभिभावक का दायित्व बनता है।

जगन्नाथपुर। कार्यशाला में उपस्थित एसएमसी के सदस्य व विचार रखते अतिथि।

इन विषयों पर चर्चा

विद्यालय प्रबंधन समिति क्या है, विद्यालय प्रबंधन समिति की आवश्यकता क्यों पड़ी, विद्यालय प्रबंधन समिति की प्रक्रिया, समिति के कार्य व दायित्व, विद्यालय में उत्पन्न समस्या का समाधान कैसे होगा, बच्चों को शिक्षा का अधिकार क्यों जरुरी है, बाल अधिकार क्या है, बच्चे कैसे अधिक से अधिक लाभांवित होंगें, शिक्षा का अधिकार अधिनियम से बच्चों की स्थिति किस प्रकार सुदृढ़ होंगे, इस नियम को किस तरह क्रियांवित किया जाए, सामाजिक उत्थान एवं परिवर्तन में इस नियम की भूमिका क्या है? आदि विषयों पर चर्चा की गई।

X
बच्चे को शिक्षा मिले यह अभिभावक का दायित्व
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..