Hindi News »Jharkhand »Jagannathpur» 3 साल में ही रस्सेल प्लस टू हाई स्कूल में निर्मित जलमीनार जर्जर

3 साल में ही रस्सेल प्लस टू हाई स्कूल में निर्मित जलमीनार जर्जर

राजकीय रस्सेल +2 उच्च विद्यालय के 1800 विद्यार्थी भय के साये में अध्यापन करने को विवश हैं। कब किसके उपर जलमीनार गिर...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 21, 2018, 02:50 AM IST

राजकीय रस्सेल +2 उच्च विद्यालय के 1800 विद्यार्थी भय के साये में अध्यापन करने को विवश हैं। कब किसके उपर जलमीनार गिर जाएगी, यह किसी को पता नहीं। एसआर रुंगटा माईंस ग्रुप द्वारा 2014 में जलमीनार का निर्माण कराया गया था, जो अब जर्जर अवस्था में पहुंच गया है। डीप बोरिंग कर हजार लीटर की जलमीनार का निर्माण कराया गया था। महज तीन वर्षों में ही यह जर्जर हो गई। पानी टंकी की दीवार में कंक्रीट की जगह ईट का प्रयोग किया गया है। कभी-कभी टंकी की छत से टपकते पानी को देख बच्चे पानी पीने से डर जाते हैं। प्राचार्य इम्तियाज नाजिम का कहना है कि अभी इस जलमीनार की मरम्मत की सख्त जरुरत है। समय रहते यदि इसकी मरम्मति हो जाती तो अनहोनी से बचा जा सकता है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Jagannathpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×