Hindi News »Jharkhand »Jagannathpur» चाईबासा का पारा 4, अगले 2 दिन राहत नहीं मिलेगी

चाईबासा का पारा 4, अगले 2 दिन राहत नहीं मिलेगी

भास्कर न्यूज| चाईबासा/ गुवा चाईबासाइसके आसपास के क्षेत्रों में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। हालांकि न्यूनतम पारा 4 पर...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jan 09, 2018, 02:50 AM IST

भास्कर न्यूज| चाईबासा/ गुवा

चाईबासाइसके आसपास के क्षेत्रों में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। हालांकि न्यूनतम पारा 4 पर स्थिर है। ठंड से जन-जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। यही हाल साल वन के लिए एशिया प्रसिद्ध सारंडा का भी है। शीतलहर से लोग परेशान हैं। शाम होते ही लोग अपने घरों में दुबक जा रहे हैं। सोमवार को भी चाईबासा, चक्रधरपुर जगन्नाथपुर का न्यूनतम तापमान 4 डिग्री रिकाॅर्ड किया गया। चाईबासा में अधिकतम तापमान 26 जगन्नाथपुर का अधिकतम तापमान 24 डिग्री दर्ज किया गया। यही हाल जिले से सटे बड़बिल, मनोहरपुर, बडाज़ामदा किरीबुरू- मेघाहातुबुरू आदि जगहों का है। लोगों को ठंड से बचने के लिए अलाव का सहारा लेना पड़ रहा है। प्रशासन द्वारा स्कूलों में कक्षा 1 से 5 तक के बच्चों को छुट्‌टी दे दी गई है।

इस साल ज्यादा ठंड

मौसमविशेषज्ञ के मुताबिक, अगले दो दिनों तक चाईबासा, चक्रधरपुर जगन्नाथपुर का न्यूनतम पारा 4 डिग्री पर स्थिर रहेगा। ठंड में कोई राहत नहीं मिलेगी। ऐसे में लोगों को कड़ाके की ठंड से अभी निजात नहीं मिल पाएगी। पिछले साल की तुलना में इस बार ज्यादा ठंड पड़ रही है।

अलाव ही सहारा

शाम6 बजते ही लोग बाजार से घर लौट जाना ज्यादा बेहतर मान रहे हैं। बहुत जरूरी काम होने पर ही लोग बाजार की ओर निकल रहे हैं। वहीं ठंड से बचने के लिए लोगों को अलाव का सहारा लेना पड़ रहा है। शहर के विभिन्न चौक- चौराहों पर लोग अपने स्तर से भी अलाव जला रहे हैं।

सारंडा का न्यूनतम पारा 4.6 पहुंचा

सारंडामें जबरदस्त ठंड पड़ रही है। न्यूनतम तापमान 4.6 डिग्री पर पहुंच गया है। जबकि अधिकतम तापमान 26 डिग्री रिकाॅर्ड किया गया। शाम ढलते ही बाजार हाट सुना हो जा रहा है। लोग घर में दुबकने को विवश हैं। कुहासा भी परेशान कर रहा है। पिछले 30 वर्षों में सबसे कम तापमान सोमवार का ही है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Jagannathpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×