--Advertisement--

सांसद पेयजलापूर्ति योजना दो वर्षों से बंद

जगन्नाथपुर शिव मंदिर टोला के करीब ढाई हजार लोगों को गर्मी के दिनों में पेयजलापूर्ति कि परेशानी से निजात दिलाने के...

Danik Bhaskar | Feb 15, 2018, 03:00 AM IST
जगन्नाथपुर शिव मंदिर टोला के करीब ढाई हजार लोगों को गर्मी के दिनों में पेयजलापूर्ति कि परेशानी से निजात दिलाने के लिए सांसद सह भाजपा प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा द्वारा 8 लाख 50 हजार कि लागत से मिनी डीप बोरिंग पेयजलापूर्ति योजना का निर्माण कराया गया था। लेकिन उक्त योजना बनते ही खराब हो गई, जिसके फलस्वरुप यह योजना पिछले दो वर्ष से खराब है। लेकिन उक्त सुविधा को क्षेत्र के लोगों की सुविधा के लिए बहाल हो सके। इसके लिए झालकों के अभियंता द्वारा कोई प्रयास नहीं किया जा रहा है। जबकि सांसद फंड से उक्त योजना का निर्माण झालको के कार्यपालक अभियंता एके राय के देखरेख में की गई। हालांकि इस मामले को लेकर कई बार झालको के कार्यपालक अभियंता से शिकायत की गई है। इसके बावजूद इस मामले पर कोई कार्रवाई नहीं की गई। सरकार और जिला प्रशासन द्वारा गर्मी के दिनों में पानी को लेकर परेशान ना हो इसके लिए पेयजलापूर्ति विभाग के द्वारा करोड़ों रुपए खर्च किए जा रहे हैं। इधर सरकार के द्वारा झालको प्रबंधन को इस वर्ष पेयजलापूर्ति योजना को धरातल पर उतारने के लिए करोड़ों की योजना दी गई है। मालूम हो कि वर्ष 2016 में जगन्नाथपुर शिव मंदिर टोला क्षेत्र के करीब ढाई हजार लोगों की प्यास बुझाने के लिए सांसद फंड से दस-दस नलकूप मीनी वाटर डीप बोरिंग केंद्र में लगाया गया था। लेकिन लगने के एक माह बाद बंद हो गई, जो आज तक बंद है। अब स्थिति यह है कि पानी के लिए क्षेत्र के लोगों को पानी के लिए इधर उधर भटकना पड़ता है। जगन्नाथपुर शिव मंदिर टोला क्षेत्र में लगे करीब 6 चापाकलों का पानी गर्मी के दिनों में निचे चला जाता है या फिर खराब हो जाती है। चापाकल लोगों के सामने पेयजलापूर्ति की गंभीर समस्या बन जाती है।