--Advertisement--

5 दिनों मे 121.2 मिमी बारिश, 15 के बाद साफ होगा मौसम

भास्कर न्यूज |चाईबासा/जगन्नाथपुर अप्रैल में मौसम ने अपने बदले स्वरूप से सभी को हैरान कर दिया है। अमूमन अप्रैल के...

Dainik Bhaskar

Apr 13, 2018, 02:20 AM IST
5 दिनों मे 121.2 मिमी बारिश, 15 के बाद साफ होगा मौसम
भास्कर न्यूज |चाईबासा/जगन्नाथपुर

अप्रैल में मौसम ने अपने बदले स्वरूप से सभी को हैरान कर दिया है। अमूमन अप्रैल के महीने की शुरुआत प्रचंड गर्मी व लू की थपेड़ों से होती थी। लेकिन इस बार बादल व बारिश से इस महीने की शुरुआत हुई है। इसकी वजह से इस महीने का तापमान लगातार सामान्य से नीचे बना हुआ है। अगर पिछले वर्ष के अप्रैल माह से तुलना करें तो इस वर्ष अधिकतम तापमान पिछले वर्ष के मुकाबले नीचे बना हुआ है। जबकि 1 अप्रैल से 10 अप्रैल तक अधिकतम तापमान और भी कम था। इसकी मुख्य वजह लगातार बादल छाए रहना और बारिश होना है। चाईबासा 11 अप्रैल तक मौसम वैज्ञिनिकों के पूर्वानुमान को उलट फेर करते हुए बीते एक सप्ताह जमकर बारिश हुई। मौसम विभाग के आंकड़ों के अनुसार बीते 5 दिनों मे 121.2 मीमी बारिश हुई है। आगले 15 अप्रैल तक मौसम विभाग की माने तो हल्की बारिश होगी। लेकिन आसमान में छिटपुट बादल छाए रहेंगे।

अगले तीन दिनों तक छाए रहेंगे बादल, आेलावृष्टि से फसलों को नुकसान, लोगों को वज्रपात से बचने की दी गई सलाह

आंधी और ओले से कई घरों की छत टूटी

करलाजोड़ी पंचायत के करलाजोड़ी व नरसंडा पंचायत के संकोसाई नरसंडा, सुपल साई में पिछले दो दिनों के भीतर आंधी व ओला वृष्टि ने दर्जनों घरों के छप्पर उड़ा दिए। ओले से कई घरों के एस्बेस्टस टूट गए। सोमवार व मंगलवार को ओले गिरे, जिससे किसानों के सब्जी बगानों को भारी क्षति पहुंची है। करलाजोड़ी पंचायत में कई मकानों की छत उड़ गई। लगभग दो लाख रुपए का नुकसान बताया जा रहा है।

अागे क्या- 13, 14 व 15 अप्रैल को हल्की बारिश होने की संभावना है। आकाश में छिटपुट बादल छाए रहेंगे। अधिकतम तापमान 35 से 39 डिग्री सेल्सियस तक रहेगा। वहीं न्यूनतम तापमान 20 से 22 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है। वहीं हवा की गति सीमा 7 से 10 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से बहने का पूर्वानुमान है।

तार पर गिरा पेड़, घंटों बाधित रही बिजली

मौसम में आए बदलाव की वजह से आए दिन बिजली के खंभे व तारों को नुकसान पहुंच रहा है। तेज हवा की वजह से कहीं बिजली के खंभे व तार टूटकर गिर रहे हैं तो कहीं बिजली के तार पर पेड़ गर रहे हैं। ऐसे में शहर में पिछले पांच दिनों से विद्युत आपूर्ति बाधित हो रही है। लिहाजा लोगों को रोज घंटों पावर कट की समस्या से जूझना पड़ रहा है। गुरुवार को भी टाटा कॉलेज के पास बिजली के तार पर पेड़ गिर गया। इससे बिजली का तार टूट गया। नतीजतन घंटों बिजली बाधित रही।

काल बैशाखी का असर- अप्रैल महीने के 11 दिनों में 8 दिन बारिश हुई। काल बैशाखी की वजह से गुरुवार को लगातार चौथे दिन बारिश हुई। मौसम वैज्ञानिक के मुताबिक 21 मार्च के बाद यह स्थिति लगभग हर साल बनती है। हालांकि इसका प्रभाव अलग-अलग होता है। इसे काल बैशाखी भी कहते हैं। काल बैशाखी से तात्पर्य तेज़ गति से चलने वाले तूफ़ानों से है। इन हवाओं के मिलन के कारण मूसलाधार वर्षा होती है।

X
5 दिनों मे 121.2 मिमी बारिश, 15 के बाद साफ होगा मौसम
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..