• Home
  • Jharkhand News
  • Jagannathpur
  • युवा ही राष्ट्र शक्ति, इसकी अनदेखी किसी भी हाल में नहीं हो
--Advertisement--

युवा ही राष्ट्र शक्ति, इसकी अनदेखी किसी भी हाल में नहीं हो

युवा ही राष्ट्र शक्ति है। इसकी अनदेखी न करें। बच्चों की अनदेखी करना भविष्य के साथ खिलवाड़ करना होगा। शिक्षा के स्तर...

Danik Bhaskar | Apr 12, 2018, 02:25 AM IST
युवा ही राष्ट्र शक्ति है। इसकी अनदेखी न करें। बच्चों की अनदेखी करना भविष्य के साथ खिलवाड़ करना होगा। शिक्षा के स्तर को मजबूत करने व बच्चों के अधिकार को सुनिश्चित करने में सहायक बनें। उक्त बातें प्रखण्ड सभागार में गैर सरकारी सामजिक संगठन के द्वारा आयोजित प्रखंड स्तरीय युवा सम्मेलन में विचार देते हुए वक्ताओं ने कही। वक्ताओं ने गांव के विद्यालय में प्राथमिक व मध्य स्तर की शिक्षा के साथ साथ आंगनबाड़ी केंद्रों में दी जाने वाली नर्सरी शिक्षा को बेहतर बनाने पर जोर दिया। उन्होंने सभी बच्चों का विद्यालय में ठहराव कर अनिवार्य व गुणवत्तापूर्ण शिक्षा लागू कराने में युवक युवतियों को प्राथमिकता के साथ जिम्मेदारी लेने की सलाह दी। सम्मेलन में आदिवासी हो महासभा के केंद्रीय महासचिव सोमा कोड़ा व अनुमंडल अध्यक्ष मंजीत कोड़ा ने अपने विचार रखते हुए युवाओं की शिक्षा में भागेदारी प्रति सुनिश्चित करने को कहा। उन्होंने युवाओं से कहा की युवा अपने समाज को एक बेहतर कल सुनिश्चित कर सकते हैं, उन्हें आगे आते हुए शिक्षा के प्रति अपनी जिम्मेदारी निभानी चाहिए। बच्चों के अधिकार को दिलाने में सहायक बनना चाहिए। लेकिन युवा शिक्षा के प्रति बहुत उदासीन हैं। वो सिर्फ नौकरी पाने के लिए ही शिक्षा के प्रति अपनी जिम्मेदारी समझते है। उन्हें समझना चाहिए की शिक्षा सिर्फ नौकरी पाने की नहीं अपितु अपने तथा अपने समाज के उत्थान के लिए जरूरी है। अशिक्षित व्यक्ति अपने समाज को एक बेहतर कल देने में असमर्थ होता है। सम्मेलन में एस्पायर के प्रखण्ड कोआडिनेटर एस रमेश व वी. रमना तथा सोमा व मंजीत सहित अन्य अतिथियों ने बाल बाल सुरक्षा व उनके अधिकार, बाल मजदूर तथा बाल विवाह पर रोक, शिक्षा अधिकार कानून, समाज में फैली शिक्षा के प्रति अव्यवस्था, युवाओं शिक्षा को की समाज में भागेदारी तथा जिम्मेदारियां, सरकारी विद्यालयों में शिक्षा का स्तर, सुधार के प्रयास के तरीके, महिलाओं कि शिक्षा पर सामजिक रवैया तथा प्रभाव, अशिक्षा के कारण फैली कुरीतियां, आदि पर गहन चर्चा की।

भास्कर न्यूज |जगन्नाथपुर

युवा ही राष्ट्र शक्ति है। इसकी अनदेखी न करें। बच्चों की अनदेखी करना भविष्य के साथ खिलवाड़ करना होगा। शिक्षा के स्तर को मजबूत करने व बच्चों के अधिकार को सुनिश्चित करने में सहायक बनें। उक्त बातें प्रखण्ड सभागार में गैर सरकारी सामजिक संगठन के द्वारा आयोजित प्रखंड स्तरीय युवा सम्मेलन में विचार देते हुए वक्ताओं ने कही। वक्ताओं ने गांव के विद्यालय में प्राथमिक व मध्य स्तर की शिक्षा के साथ साथ आंगनबाड़ी केंद्रों में दी जाने वाली नर्सरी शिक्षा को बेहतर बनाने पर जोर दिया। उन्होंने सभी बच्चों का विद्यालय में ठहराव कर अनिवार्य व गुणवत्तापूर्ण शिक्षा लागू कराने में युवक युवतियों को प्राथमिकता के साथ जिम्मेदारी लेने की सलाह दी। सम्मेलन में आदिवासी हो महासभा के केंद्रीय महासचिव सोमा कोड़ा व अनुमंडल अध्यक्ष मंजीत कोड़ा ने अपने विचार रखते हुए युवाओं की शिक्षा में भागेदारी प्रति सुनिश्चित करने को कहा। उन्होंने युवाओं से कहा की युवा अपने समाज को एक बेहतर कल सुनिश्चित कर सकते हैं, उन्हें आगे आते हुए शिक्षा के प्रति अपनी जिम्मेदारी निभानी चाहिए। बच्चों के अधिकार को दिलाने में सहायक बनना चाहिए। लेकिन युवा शिक्षा के प्रति बहुत उदासीन हैं। वो सिर्फ नौकरी पाने के लिए ही शिक्षा के प्रति अपनी जिम्मेदारी समझते है। उन्हें समझना चाहिए की शिक्षा सिर्फ नौकरी पाने की नहीं अपितु अपने तथा अपने समाज के उत्थान के लिए जरूरी है। अशिक्षित व्यक्ति अपने समाज को एक बेहतर कल देने में असमर्थ होता है। सम्मेलन में एस्पायर के प्रखण्ड कोआडिनेटर एस रमेश व वी. रमना तथा सोमा व मंजीत सहित अन्य अतिथियों ने बाल बाल सुरक्षा व उनके अधिकार, बाल मजदूर तथा बाल विवाह पर रोक, शिक्षा अधिकार कानून, समाज में फैली शिक्षा के प्रति अव्यवस्था, युवाओं शिक्षा को की समाज में भागेदारी तथा जिम्मेदारियां, सरकारी विद्यालयों में शिक्षा का स्तर, सुधार के प्रयास के तरीके, महिलाओं कि शिक्षा पर सामजिक रवैया तथा प्रभाव, अशिक्षा के कारण फैली कुरीतियां, आदि पर गहन चर्चा की।

जगन्नाथपुर में हुआ प्रखंड स्तरीय युवा सम्मेलन, समाज में युवाओं की भागीदारी पर दिया गया जोर, वक्ताओं ने रखे विचार, कहा-

कई वक्ताओं ने रखे विचार

सम्मेलन में एस्पायर के प्रखण्ड कोआडिनेटर एस.रमेश, नोवामुण्डी प्रखण्ड कोआडिनेटर वी. रमना, सहायक कोआडिनेटर दिप्तेश्वर पेराई, एलईपी कोआडिनेटर सुरेश बाग, नोवामुण्डी कोआडिनेटर चंद्रमणी माझी, लाईब्रेरी कोआडिनेटर पूनम पुरती, रायमुनी सिंकु, हरिश पुरती, रूपेश सरकार, महेश्वर गोप, अनुज गोप, परमेश्वर गोप, दीपक कुमार, जगन्नाथपुर मुखिया गौरी लागुरी, तोडांगहातु मुखिया रोयवारी लागुरी, वार्ड सदस्य सुशीला नायक, आदिवासी हो समाज युवा महासभा के केंद्रीय महासचिव सह कस्तुरबा गांधी आवासीय विधालय प्रबंधन समिति अध्यक्ष सोमा कोङा, अनुमंडल अध्यक्ष मंजीत कोङा, प्रखण्ड प्रभारी कृषि पदाधिकारी कालीपदो पाल, मुनीलाल रवि, अंजु सिंकु, सौरभ कुमार आदि मौजूद थे।