• Home
  • Jharkhand News
  • Jagannathpur
  • रोज जगन्नाथपुर पहुंच रहे 80 से 100 लोग, नहीं बन रहा यूआईडी
--Advertisement--

रोज जगन्नाथपुर पहुंच रहे 80 से 100 लोग, नहीं बन रहा यूआईडी

आम लोगों को लाभकारी योजनाओं का लाभ देने के लिए आधार कार्ड का होना जरूरी है। आम लोगों को आधार से जोड़ने के काम में...

Danik Bhaskar | Apr 25, 2018, 02:40 AM IST
आम लोगों को लाभकारी योजनाओं का लाभ देने के लिए आधार कार्ड का होना जरूरी है। आम लोगों को आधार से जोड़ने के काम में तेजी लाने के लिए यह काम प्रज्ञा केंद्र से हटा कर बैंक व पोस्टऑफिस को दे तो दिया गया है, लेकिन नक्सल प्रभावित जगन्नाथपुर अनुमंडल में आधार बनाने का काम ठप है। इससे जहां सरकार की लाभकारी योजना से वंचित रहना पड़ रहा है, वहीं पहले बन चुके आधार कार्ड की त्रुटियों को सुधारने का काम भी नहीं हो पा रहा है। ऐसे में वृद्वा पेंशनधारियों को एक साल से पेंशन भुगतान नहीं हो पा रहा है। प्रखंड मुख्यालय में खुले 16 प्रज्ञा केंद्र में रोजाना 80 से 100 लोग आधार बनाने व सुधार करवाने के लिए पहुंच रहे हैं, लेकिन उन्हें बैरंग ही लौटना पड़ रहा है। वहीं केंद्र की यूआईडी सेल के सख्त निर्देश के बावजूद बैंकों व पोस्ट ऑफिस में यूआईडी बनाने का काम अब तक शुरू नहीं हो पाया है।

प्रज्ञा केंद्र, बैंक व उप डाकघर में नहीं बना रहा आधार कार्ड, कई जरूरी काम अटके, बच्चों व उम्रदराज लोगों को ज्यादा हो रही परेशानी

एक साल से चक्कर काटने वाले तुला लागुरी अपनी प|ी व बच्चे के साथ।

यूआईडी सेल के ये हैं आदेश - लोगों की सुविधा के लिए यूआईडी सेल के पदाधिकारी द्वारा सख्त आदेश है कि जिले के सभी अनुमंडल व प्रखंड मुख्यालय में जहां भी बैंक व पोस्टऑफिस हैं, हर दिन सुबह 10 बजे से शाम 6 बजे तक आधार कार्ड बनाने व सुधार का कार्य जारी रहेगा

न आधार बना, ना सुधार हुआ

जानकारी के अनुसार, जगन्नाथपुर प्रखंड मुख्यालय में पांच बैंक व एक उपडाक घर हैं, लेकिन आज तक न तो एक भी नया आधार कार्ड बना है और ना ही आधार की त्रुटियों में सुधार का काम हो पाया है।

15 किलोमीटर दूर से आते हैं लोग

क्षेत्र के भोले भाले लोग अब भी यही जानते हैं कि आधार कार्ड बनाने व सुधार कराने का काम प्रज्ञा केंद्र में ही होता है। लिहाजा वे अब भी आधार बनाने के लिए 15 किमी की दूरी तय कर प्रज्ञा केंद्र पहुंच रहे हैं। यहां पहुंचने के बाद ही उन्हें पता चल रहा है कि प्रज्ञा केंद्र में पिछले चार माह से आधार बनाने का काम बंद है।

सीएसडी कोड खत्म होने से बढ़ी परेशानी

सीएसडी कोड खत्म होने के बाद क्षेत्र के 90 फीसदी लोगों के आधार कार्ड में स्पेलिंग, पता व उम्र में गलतियों में सुधार नहीं हो पा रहा है। इससे बड़े से लेकर बच्चों तक को परेशानी हो रही है।