--Advertisement--

मनरेगा मजदूरों ने मजदूरी नहीं मिलने की शिकायत की

ग्रामीणों की शिकायत सुनते केंद्रीय टीम के सदस्य। गांव के विकास व ग्रामीणों की जीवन शैली में बदलाव के लिए...

Danik Bhaskar | Jul 13, 2018, 02:45 AM IST
ग्रामीणों की शिकायत सुनते केंद्रीय टीम के सदस्य।

गांव के विकास व ग्रामीणों की जीवन शैली में बदलाव के लिए संचालित हैं कई योजनाएं

भास्कर न्यूज| जगन्नाथपुर

गांव के विकास व ग्रामीणों की जीवन शैली में बदलाव लाने के लिए बनाई गई सरकारी योजनाओं की जांच के लिए गुरुवार को केंद्रीय टीम जगन्नाथपुर पहुंची। टीम को लीड कर रहे केंद्रीय उप सचिव टीएस राउतला इस क्रम में प्रखंड के पट्टाजैंत, काशिरा, करंजिया व छोटा महुलडीहा पंचायत के पंचायत भवन में सरकार की सात महत्वाकांक्षी योजनाओं की जानकारी देने के लिए चार घंटे तक पसीना बहाया। साथ ही ग्रामीणों से योजनाओं की स्थिति की जानकारी भी ली। इस दौरान ग्रामीणों ने जांच दल को बताया कि मनरेगा योजना में काम करने पर मजदूरी नहीं मिलती है। इस पर जांच अधिकारी ने किसी भी तरह की समस्या होने पर प्रखंड विकास पदाधिकारी से संपर्क करने का सुझाव दिया। उन्होंने कहा कि कोई भी व्यक्ति सरकारी योजनाओं का लाभ तभी ले सकते हैं, जब उनका बैंक खाता खुला होगा। ऐसे में हर व्यक्ति को बैंक में खाता खोलना होगा। इस योजना से संबंधित पैसे उसी खाते में भेजे जाएंगे। उन्होंने कहा कि सरकार का उद्देश्य है कि पर्यावरण को बचाने के लिए हर घर में गैस चूल्हे की व्यवस्था हो। इसके लिए प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत गैस सिलेंडर का वितरण किया जा रहा है।

सरकारी योजनाओं की ली जानकारी

जांच दल के सदस्य सबसे पहले पट्टाजैंत पंचायत पहुंचे व करंजिया पंचायत भवन में ग्रामीणों के साथ बैठक की। इस दौरान टीम ने ग्राम स्वराज अभियान के तहत चलने वाली सात योजनाओं की जानकारी ली। टीम के सदस्य श्री राउतला ने कहा कि सरकार तो योजना बना देती है, लेकिन यह ग्रामीणों तक पहुंच पाती हैं या नहीं, इसी बात की जानकारी लेने के लिए केंद्र सरकार ने उन्हें दिल्ली से भेजा है।

ग्रामीणों को किया गया जागरूक

इस दौरान सीडीपीओ अंजना देवी, करंजिया पंचायत की मंजू हेस्सा, पट्टाजैंत, छोटामहुलडीहाया व डीलर, स्वास्थ्य विभाग के प्रतिनिधि के रूप में जगन्नाथपुर सीएचसी प्रभारी सुशांतो माझी आदि ने भी ग्रामीणों को योजनाओं की जानकारी दी। साथ ही उन्हें जागरूक भी किया गया।