• Home
  • Jharkhand News
  • Jagannathpur
  • ग्रामीणों को सोलर जलापूर्ति योजना का नहीं मिला फायदा
--Advertisement--

ग्रामीणों को सोलर जलापूर्ति योजना का नहीं मिला फायदा

भीषण गर्मी में राज्य में एक भी व्यक्ति पेयजलापूर्ति के अभाव में प्यासा ना रह जाए, इसके लिए सरकार द्वारा सबंधित...

Danik Bhaskar | Jun 19, 2018, 02:50 AM IST
भीषण गर्मी में राज्य में एक भी व्यक्ति पेयजलापूर्ति के अभाव में प्यासा ना रह जाए, इसके लिए सरकार द्वारा सबंधित विभाग को डिस्ट्रीक मिनरल फंड से लाखों रुपए दिए गए। इसके बावजूद लोग प्यासे रह जा रहे हैं। जगन्नाथपुर अनुमंडल के प्रखंड मुख्यालय के जगन्नाथपुर प्रखंड, नोवामुंडी प्रखंड की पंचायतों में देखने को मिल रही है। इन पंचायतों में सोलर आधारित पेयजलापूर्ति की सुविधा तो बहाल कर दी गई है। लेकिन जिस हैंडपंप में सोलर आधारित पेयजलापूर्ति सुविधा है। वहां के चापाकल या तो सूख गए या तो खराब हो गए। कहीं तो पूजा स्थल के नाम पर लाखों रुपए की योजना किसी विशेष व्यक्ति के घर लगा दी। हालांकि उन योजनाओं पर अधिकारियों की नजर आए दिन पड़ती है, लेकिन उसका सुधी लेने वाला कोई नहीं है। वहीं पीएचडी विभाग के कार्यपालक अभियंता द्वारा स्पष्ट निर्देश जारी किया गया है की सोलर आधारित पेयजलापूर्ति की सुविधा जिस भी चापानल में लगाया गया है, वैसे सभी चापाकल चालू अवस्था में रहना चाहिए। बनाए गए सभी नियम का पालन होना चाहिए। यदि कोई चापाकल सूख जाए या खराब हो जाए तो योजना से संबंधित स्थानीय अधिकारियों के विरूद्व मामला दर्ज कराया जाएगा। लेकिन यह आदेश केवल कागज पर ही है।

पेयजल स्वच्छता विभाग के कार्यपालक अभियंता पीके मंडल द्वारा निर्देश जारी किया गया था कि अनजान जेंडर द्वारा सोलर आधारित पेयजलापूर्ति योजना पर काम नहीं किया जाएगा।