--Advertisement--

बिजली बिल में वृद्धि वापस लेने की मांग

राज्य सरकार द्वारा नये बिजली बिल लागू किए जाने को लेकर जहां विरोध प्रदर्शन शुरू हो गया है। वहीं सोमवार को राज्य के...

Danik Bhaskar | May 01, 2018, 02:50 AM IST
राज्य सरकार द्वारा नये बिजली बिल लागू किए जाने को लेकर जहां विरोध प्रदर्शन शुरू हो गया है। वहीं सोमवार को राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा ने जभासपा के कार्यालय में अपने समर्थकों के साथ बैठक कर सरकार के बिजली बिल वृद्धि के गलत निर्णय पर जम कर बरसे। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा पिछले दिन बिजली बिल में की गई वृद्धि के फैसले जनविरोधी है। ऐसे में तत्काल सरकार को बिजली बिल में की गई बिल वृद्धि को वापस ले। उन्होंने कहा कि इससे पूर्व 2012 से 15 में जब भी बढ़ोतरी हुई थी 10 से 15 फीसदी हुई थी, लेकिन बार 90 से 98 फीसदी टैरिफ रेट बढ़ा दी गई है। इससे शहरी क्षेत्र व ग्रामीण क्षेत्र के बिजली उपभोक्ताओं को तकरीबन प्रति यूनिट 2 से ढाई रुपया ज्यादा चुकाने होंगे। उपभोक्ता को 50 रूपया फिक्स देना पड़ता था, जबकि नई दर लागू होने से उन उपभोक्ताओं 50 रुपए के बदले 75 देना होगा। मधु कोड़ा ने कहा की वर्तमान राज्य सरकार साढ़े छह हजार करोड़ के घाटे में चल रही है, जिसे पूरा करने के लिए जनता पर अतिरिक्त बोझ डाल रही है।