Hindi News »Jharkhand »Jai Nagar» जयनगर में 153 वर्षों से हो रही है बासंतिक दुर्गा पूजा

जयनगर में 153 वर्षों से हो रही है बासंतिक दुर्गा पूजा

स्थानीय जयनगर में 153 वर्षों से बसंती दुर्गा पूजा मनाया जा रहा है। जानकारी अनुसार पेठियाबागी निवासी स्व. गोपाल...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 21, 2018, 03:15 AM IST

स्थानीय जयनगर में 153 वर्षों से बसंती दुर्गा पूजा मनाया जा रहा है। जानकारी अनुसार पेठियाबागी निवासी स्व. गोपाल स्वर्णकार को संतान नहीं होता था और वे काफी बीमार रहते थे, जिसे लेकर ज्योतिषी व साधु महात्मा के विचारधारा ने उन्हें मां दुर्गा की प्रतिमा लगा कर पूजा अर्चना की सलाह दिया था। जिसके बाद वे अपने वंश को चलाने तथा शारीरिक कष्ट को दूर करने को लेकर 1865 ई. में अपनी जमीन पर खुले आसमान में मां दुर्गा की प्रतिमा स्थापित कर बसंती दुर्गा पूजा की शुरूआत की। जिसके बाद उसे पुत्र हुआ और उसके शारीरिक कष्ट भी दूर हो गए। बाद में गोपाल स्वर्णकार के निधन के बाद उनके पुत्र मुंशी स्वर्णकार द्वारा बासंती दुर्गा पूजा की जाने लगी। वहीं मुंशी सोनार के निधन के बाद उनके वंशज स्व. नथू स्वर्णकार द्वारा लगभग 50 वर्षों तक मां दुर्गा की प्रतिमा स्थापित किया जाने लगा। उसके निधन के बाद लगभग 15 वर्षों से उनके वंशज मुखलाल स्वर्णकार, घनश्याम स्वर्णकार, दुर्गा स्वर्णकार, दिनेश्वर स्वर्णकार आदि परिजनों द्वारा प्रतिमा स्थापित कर बासंती पूजा किया जा रहा है। पूजा समिति अध्यक्ष राजेंद्र सिंह, सचिव सुभाष स्वर्णकार ने बताया कि स्व. गोपाल सोनार द्वारा खुले आसमान के नीचे प्रतिमा लगाकर बसंती दुर्गा पूजा मनाते थे, अब 1965 से बसंती पूजा के अलावा शारदीय नवरात्र दुर्गा पूजा भी मनाया जाता है। जिसमें स्थानीय जयनगर, पेठियाबागी, पहरीडीह, गोपालडीह सहित कई गांवों का सहयोग रहता है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Jai Nagar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×