--Advertisement--

आग लगने के बाद सबकुछ हुआ था खत्म, 24 घंटे बाद फिर बसने लगी बस्ती

बस्ती के लोगों ने शुक्रवार को अपना आशियाना फिर से बनाना शुरू कर दिया। काम में बड़े-बच्चे-जवान सभी जुटे दिखे।

Danik Bhaskar | Dec 23, 2017, 07:45 AM IST

जमेशदपुर. कदमा उलियान डीवीसी सब स्टेशन मरीन ड्राइव के किनारे स्थित बागे बस्ती में गुरुवार लगी भीषण आग में कई घर जलकर राख हो गए। बस्ती के लोगों ने शुक्रवार को अपना आशियाना फिर से बनाना शुरू कर दिया। काम में बड़े-बच्चे-जवान सभी तत्परता से जुटे हैं। कहीं कोई बच्चा बांस की बल्लियां उठाकर लाता नजर आ रहा है तो कहीं कोई ईंट के टुकड़ों को जमा रहा है।

सरयू राय बस्ती पहुंचे, बोले- विधायक फंड से हर पीड़ित परिवार को मिलेंगे 15-15 हजार रुपए

खाद्य आपूर्ति मंत्री सरयू राय भी आग प्रभावित बस्ती पहुंचे और राहत देने की घोषणा की। उन्होंने बस्ती का मुआयना किया। पीड़ित लोगों से मिले। उन्होंने कहा- प्रभावित हर परिवार को विधायक फंड से 15-15 हजार रुपए मदद के रूप में देंगे। अभी सबसे ज्यादा जरूरी है लोगों का घर बनवाना। इसके लिए प्रशासन से सहयोग लिया जा रहा है। जिला प्रशासन ने भी प्रभावित लोगों के लिए मुआवजा की घोषणा की है। लोगों को आवासीय योजना का लाभ भी दिया जाएगा। वे डीसी से इस मामले में बात करेंगे। कम जगह में अधिक घर बन जाएंगे और प्रभावित लोगों को लाभ दिया जा सकेगा।

पीडि़तों की मदद को आगे आए शिक्षक

टाटा वर्कर्स यूनियन हाईस्कूल (कदमा) के प्रधानाध्यापक और शिक्षकों ने कदमा बागे बस्ती के पीडितों की मदद के लिए हाथ बढ़ाया है। मौके पर स्कूल के प्रधानाध्यापक अखिलेश कुमार सिंह, शिक्षिका शिप्रा समेत कई शिक्षक मौजूद थे।

सामाजिक संगठन बस्ती वासियों के लिए लाए कपड़े

सामाजिक संगठनों ने राहत के लिए कपड़े लाए थे। कपड़े मरीन ड्राइव पर रख दिए गए। बस्ती के लोगों को जिन्हें वस्त्र की जरूरत थी, वे यहां से ले जा रहे थे। मरीन ड्राइव के सर्विस लेन का डिवाइडर कपड़े से भरा था। बच्चे अपने साइज का कपड़ा ढूंढते रहे। हर-हर महादेव संघ ने यहां कंबल बांटे।