--Advertisement--

जेल में बंद ये गैंगस्टर और उसकी पत्नी, 6 स्टेट में है दोनों की अरबों की प्रॉपर्टी

अखिलेश ने पत्नी गरिमा सिंह का नाम भी नाम बदल कर कई प्रॉपर्टी खरीदी है।

Dainik Bhaskar

Feb 06, 2018, 07:01 AM IST
गैंगस्टर अखिलेश सिंह अपनी पत्नी गरिमा के साथ कोर्ट में पेशी के दौरान। गैंगस्टर अखिलेश सिंह अपनी पत्नी गरिमा के साथ कोर्ट में पेशी के दौरान।

जमशेदपुर. प्रवर्तन निदेशालय (enforcement directorate) ने गैंगस्टर अखिलेश सिंह और पत्नी गरिमा सिंह की कुल 7.77 करोड़ रुपए की प्रॉपर्टी जब्त कर ली है। दोनों पर जाली कागजात के बेस पर नाजायज प्रॉपर्टी इकट्ठी करने की शिकायत भी दिल्ली स्थित ईडी आॅफिस में दर्ज की गई है। ईडी ने अखिलेश के गुड़गांव, जबलपुर, ग्रेटर नोएडा और देहरादून की करीब 7.10 करोड़ की प्रॉपर्टी समेत दोनों के बैंक खातों में जमा 67 लाख 32 हजार 331 रुपए भी फ्रीज कर दिए। अखिलेश ने अलग-अलग जगह संजय सिंह, अजीत सिंह, दिलीप सिंह आदि के नाम से प्रॉपर्टी खरीदी है। जबकि, गरिमा की प्रॉपर्टी गरिमा सिंह और अन्नू सिंह के नाम से है। फिलहाल अखिलेश सिंह दुमका जेल में है, जबकि उसकी पत्नी गरिमा सिंह घाघीडीह जेल में दिन काट रही है।

छह राज्यों में अखिलेश सिंह ने अलग अलग नाम से बनाई अरबों की प्रॉपर्टी

- गैंगस्टर अखिलेश सिंह ने छह राज्यों के कई शहरों में अरबों की प्रॉपर्टी खड़ी की है। फर्जी नाम से झारखंड, बिहार, हरियाणा, उत्तरप्रदेश और उत्तराखंड में उसने प्रॉपर्टी खरीदी है। अखिलेश ने मध्यप्रदेश में संजय सिंह के नाम से - प्रॉपर्टी खरीदी तो दिल्ली में अरविंद शर्मा, हरियाणा में दिलीप सिंह, उत्तराखंड में अजीत सिंह और उत्तर प्रदेश में मनोज कुमार सिंह के नाम से प्रॉपर्टी ली है। पुलिस को झांसा देने के लिए उसने इन नामों से वोटर कार्ड, आधार कार्ड, पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस और गैस कनेक्शन भी बनवाया है।

- रांची में ससुर चंदन सिंह के नाम पर चुटिया के सीरमचोली में ओएके रेजीडेंसी के बी ब्लॉक में दो फ्लैट खरीदे हैं, जबकि बनारस में ससुर के साथ मिलकर रीयल स्टेट का कारोबार कुबेर कंस्ट्रक्शन के नाम से चलाता था। - अखिलेश ने पत्नी गरिमा सिंह का नाम भी नाम बदल कर कई प्रॉपर्टी खरीदी है।

अखिलेश ने पत्नी के खाते में रखे थे ज्यादा रुपए

अखिलेश सिंह ने पत्नी गरिमा सिंह के खाते में ज्यादा रुपए रखे थेे। गरिमा सिंह के तीन खातों में क्रमश: एक्सिस बैंक में 20.82 लाख, एक्सिस बैंक में 1.57 लाख रुपए जमा कराए थे। अखिलेश सिंह के नाम से दो खाते पंजाब नेशनल बैंक में 1.21 लाख रुपए और एसबीआई में 2.30 लाख रुपए जमा थे। पुलिस ने पति-पत्नी के सभी बैंक खातों को फ्रीज करवा दिया है।

पुलिस को मिले 17 पैन कार्ड, 3 आधार 11 वोटर आईडी और 7 ड्राइविंग लाइसेंस

पुलिस के मुताबिक, 29 मार्च 2017 को बिरसानगर स्थित सृष्टि गार्डन में अखिलेश के फ्लैट में छापेमारी में कई कागजात बरामद किए गए थे। सभी कागजात अखिलेश की नाजायज प्रॉपर्टी और बैंक खाताें से जुड़े थे। दस्तावेज मनोज सिंह, संजय सिंह, अजीत सिंह और दिलीप सिंह के नाम से थे, जबकि फोटो अखिलेश के थे।

पुलिस ने 17 पैन कार्ड, 3 आधार, 11 वोटर आईडी व 7 ड्राइविंग लाइसेंस समेत अलग-अलग शहरों में जमीन और मकान के कागजात भी जब्त किए। मामले में पुलिस ने बिरसानगर थाने में तत्कालीन डीएसपी सिटी अनिमेष नैथानी के बयान पर अखिलेश और गरिमा के खिलाफ जाली कागजात बनाने की एफआईआर दर्ज की थी। पुलिस ने अखिलेश की प्रॉपर्टी जब्त करने के लिए ईडी को लेटर लिखा था। मई 2017 से ईडी जांच में जुटी थी।

जब्त की गईं कुल प्रॉपर्टी

- एक करोड़ रु. का फ्लैट देहरादून में।
- 2 करोड़ 25 लाख का प्लॉट ग्रेटर नोएडा में।
- 20 लाख रुपए का प्लॉट जबलपुर में।
- 45 लाख का एक अन्य प्लॉट जबलपुर में।
- 1.20 करोड़ रुपए की जमीन जबलपुर में।
- दो करोड़ रुपए मूल्य का घर हरियाणा में।

एक्सिस बैंक बैंक ऑफ इंडिया एचडीएफसी बैंक कोटक महिंद्रा ओबीसी, पीएनबी एसबीआई में जमा 67,32,331 रुपए फ्रीज किए गए।

गुड़गांव में पुलिस के हत्थे चढ़े थे दंपती
अखिलेश सिंह और गरिमा सिंह गुड़गांव में पुलिस के हत्थे चढ़े थे। इस दौरान पुलिस को देख अखिलेश सिंह ने गोली चला दी थी। जवाबी कार्रवाई में दो गोली उसके घुटने में लगी थी।

गोलमुरी थाने में खड़े हैं कई वाहन

2012 में तत्कालीन एसपी अखिलेश झा ने अखिलेश सिंह के कई हेवी व्हीकल्स को जब्त करवाया था। सभी गाड़ियां आज भी गोलमुरी और साकची थाना में खड़ी हैं।

अखिलेश सिंह मूल रूप से बिहार के बक्सर का रहने वाला है। अखिलेश सिंह मूल रूप से बिहार के बक्सर का रहने वाला है।
मर्डर और रंगदारी के मामलों में नाम जुड़ने के बाद अखिलेश खौफ का दूसरा नाम बन चुका है। मर्डर और रंगदारी के मामलों में नाम जुड़ने के बाद अखिलेश खौफ का दूसरा नाम बन चुका है।
गैंगस्टर अखिलेश जेल में रहने के बाद भी पुलिस के लिए चैलेंज बना हुआ है। गैंगस्टर अखिलेश जेल में रहने के बाद भी पुलिस के लिए चैलेंज बना हुआ है।
पत्नी गरिमा को अपने साथ रखता है अखिलेश। पत्नी गरिमा को अपने साथ रखता है अखिलेश।
6 नवंबर को जमशेदपुर में कोर्ट की पेशी के लिए ले जाने हथियारबंद जवानों के साथ अखिलेश और गरिमा को स्टेशन से बाहर निकाला गया। 6 नवंबर को जमशेदपुर में कोर्ट की पेशी के लिए ले जाने हथियारबंद जवानों के साथ अखिलेश और गरिमा को स्टेशन से बाहर निकाला गया।
रेड के दौरान अखिलेश की पत्नी गरिमा पुलिस से भिड़ गई थी। रेड के दौरान अखिलेश की पत्नी गरिमा पुलिस से भिड़ गई थी।
अखिलेश को पुलिस ने गुड़गांव के एक गेस्ट हाउस पर रेड मारकर अरेस्ट किया था। अखिलेश को पुलिस ने गुड़गांव के एक गेस्ट हाउस पर रेड मारकर अरेस्ट किया था।
6 नवंबर को जमशेदपुर में कोर्ट की पेशी के लिए ले जाने हथियारबंद जवानों के साथ अखिलेश और गरिमा को स्टेशन से बाहर निकाला गया। 6 नवंबर को जमशेदपुर में कोर्ट की पेशी के लिए ले जाने हथियारबंद जवानों के साथ अखिलेश और गरिमा को स्टेशन से बाहर निकाला गया।
रेड के दौरान अखिलेश ने भागने की कोशिश की तो पुलिस ने उसके घुटनों में गोली मार दी थी। रेड के दौरान अखिलेश ने भागने की कोशिश की तो पुलिस ने उसके घुटनों में गोली मार दी थी।
X
गैंगस्टर अखिलेश सिंह अपनी पत्नी गरिमा के साथ कोर्ट में पेशी के दौरान।गैंगस्टर अखिलेश सिंह अपनी पत्नी गरिमा के साथ कोर्ट में पेशी के दौरान।
अखिलेश सिंह मूल रूप से बिहार के बक्सर का रहने वाला है।अखिलेश सिंह मूल रूप से बिहार के बक्सर का रहने वाला है।
मर्डर और रंगदारी के मामलों में नाम जुड़ने के बाद अखिलेश खौफ का दूसरा नाम बन चुका है।मर्डर और रंगदारी के मामलों में नाम जुड़ने के बाद अखिलेश खौफ का दूसरा नाम बन चुका है।
गैंगस्टर अखिलेश जेल में रहने के बाद भी पुलिस के लिए चैलेंज बना हुआ है।गैंगस्टर अखिलेश जेल में रहने के बाद भी पुलिस के लिए चैलेंज बना हुआ है।
पत्नी गरिमा को अपने साथ रखता है अखिलेश।पत्नी गरिमा को अपने साथ रखता है अखिलेश।
6 नवंबर को जमशेदपुर में कोर्ट की पेशी के लिए ले जाने हथियारबंद जवानों के साथ अखिलेश और गरिमा को स्टेशन से बाहर निकाला गया।6 नवंबर को जमशेदपुर में कोर्ट की पेशी के लिए ले जाने हथियारबंद जवानों के साथ अखिलेश और गरिमा को स्टेशन से बाहर निकाला गया।
रेड के दौरान अखिलेश की पत्नी गरिमा पुलिस से भिड़ गई थी।रेड के दौरान अखिलेश की पत्नी गरिमा पुलिस से भिड़ गई थी।
अखिलेश को पुलिस ने गुड़गांव के एक गेस्ट हाउस पर रेड मारकर अरेस्ट किया था।अखिलेश को पुलिस ने गुड़गांव के एक गेस्ट हाउस पर रेड मारकर अरेस्ट किया था।
6 नवंबर को जमशेदपुर में कोर्ट की पेशी के लिए ले जाने हथियारबंद जवानों के साथ अखिलेश और गरिमा को स्टेशन से बाहर निकाला गया।6 नवंबर को जमशेदपुर में कोर्ट की पेशी के लिए ले जाने हथियारबंद जवानों के साथ अखिलेश और गरिमा को स्टेशन से बाहर निकाला गया।
रेड के दौरान अखिलेश ने भागने की कोशिश की तो पुलिस ने उसके घुटनों में गोली मार दी थी।रेड के दौरान अखिलेश ने भागने की कोशिश की तो पुलिस ने उसके घुटनों में गोली मार दी थी।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..