--Advertisement--

आईजी ने पुलिसकर्मियों को दी पेट कम करने की सलाह, साथ ही कहा ये

परेड, ड्रेस, पेंडिंग फाइल, केस डायरी पर जताई असंतुष्टि

Dainik Bhaskar

Apr 01, 2018, 07:13 AM IST
टाटानगर जीआरपी में निरीक्षण करतीं रेल आईजी सुमन गुप्त व उपस्थित जवान। टाटानगर जीआरपी में निरीक्षण करतीं रेल आईजी सुमन गुप्त व उपस्थित जवान।

जमशेदपुर. टाटानगर स्टेशन के पार्किंग ठेकेदार से बड़े अधिकारियों के नाम पर पैसे वसूलने के आरोप में रेल महानिरीक्षक (आईजी) सुमन गुप्ता ने शनिवार को टाटानगर जीआरपी के पुलिस कर्मी दयाशंकर राय और पिंटू सिंह को लाइन क्लोज करने का आदेश दिया। मामले में जांच का जिम्मा टाटानगर एसआरपी (रेल एसपी) संगीता कुमारी को सौंपा गया है। शनिवार को दो घंटे तक टाटानगर जीआरपी का निरीक्षण करने के दौरान रेल आईजी सुमन गुप्ता ने ये आदेश दिया। सीना ऊपर करने का दिया निर्देश...

- रेल आईजी सुबह 10.30 टाटानगर रेल थाना पहुंचीं। किट परेड के दौरान आईजी ने वर्दी, जूते, खड़े होने व टाेपी पहनने को लेकर जवानों की क्लास ली।

- पुरानी वर्दी-जूते देख कर आईजी ने पूछा- वर्दी के लिए सरकार साल में 4000 रुपए देती है। इस राशि को वर्दी पर ही खर्च करना है।

- उन्होंने जवानों को ठीक तरीके से टोपी पहनने, सीधा खड़ा होने, सीना ऊपर करने और पेट कम करने का निर्देश दिया।

रेल आईजी ने ये भी कहा

- पुलिसकर्मी थाना में आने वाले हर शिकायतकर्ता को बैठाएं और उसकी समस्या सुनें। शिकायत पर उसे रिसिविंग दें। अगर थाना से संबंधित शिकायत नहीं है तो उसे सही जानकारी दें।
- जीआरपी ट्रेनों का स्कॉट नहीं कर रही है। यह गंभीर है। जो पुलिस बल है, उसी में सब कार्य करना है। बहाना नहीं बनाएं।
- अपराध रोकने के लिए काम करना होगा। संचिका तैयार करने और पेंडिंग फाइल करने में ही पुलिस अधिकारी लगे रहेंगे तो केस का अनुसंधान कैसे करेंगे।

थाना में हथियार रखने पर उठाया सवाल

- टाटानगर रेल थाना में हथियार रखने पर रेल आईजी सुमन गुप्ता ने थाना प्रभारी से पूछा- किसके आदेश पर हथियार थाने में रखे गए हैं।

- थाना प्रभारी ने बताया- टाटानगर स्टेशन पर अक्सर वीआईपी आते-जाते रहते हैं तो उन्हें स्कॉट दिया जाता है।

- थाना प्रभारी ने हथियार गोलमुरी लाइन में रखने की बात भी कही। इस पर रेल आईजी ने कहा- वे इस बात को लेकर समीक्षा करेंगी।

पुलिस कर्मियों को प्रो एक्टिव होना होगा : आईजी


- निरीक्षण के बाद प्रेसवार्ता में आईजी ने कहा- टाटानगर एक महत्वपूर्ण रेल थाना है और यहां के पुलिस कर्मियों को प्रो एक्टिव होना होगा।

- टाटानगर रेल थाना के किसी अधिकारी को ढंग से पुलिस कार्य तक नहीं आता। जो जवान-अधिकारी पुलिस कार्य नहीं जानेंगे, वे किस प्रकार केस लिखेंगे, केस डायरी तैयार करेंगे और अनुसंधान करेंगे?

- जांच में हर स्तर पर असंतुष्टि जताते हुए आईजी ने कई दिशा-निर्देश दिए।

- टाटानगर एसआरपी संगीता कुमारी को भी इसको लेकर विशेष ध्यान रखने और समय समय पर समीक्षा करने की बात कही। आईजी ने किसी भी स्तर से भ्रष्टाचार बर्दाश्त नहीं करने की बात कही।

आईजी सुमन गुप्ता आईजी सुमन गुप्ता
X
टाटानगर जीआरपी में निरीक्षण करतीं रेल आईजी सुमन गुप्त व उपस्थित जवान।टाटानगर जीआरपी में निरीक्षण करतीं रेल आईजी सुमन गुप्त व उपस्थित जवान।
आईजी सुमन गुप्ताआईजी सुमन गुप्ता
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..