--Advertisement--

खुद को पति और बहन को बताया मां, फिर गर्लफ्रेंड का अबॉर्शन कराने पहुंचा प्रेमी

नाबालिग जिस स्कूल में दसवीं की छात्रा है, उसी स्कूल में आरोपी की बहन टीचर थी।

Dainik Bhaskar

Feb 12, 2018, 08:45 AM IST
Minor Girl Abortion Case in jamshedpur

जमशेदपुर. यहां के बिरसानगर से पिछले दो दिनों से गायब 10वीं की छात्रा रविवार को साकची के लाइफ लाइन नर्सिंग होम मिली। उसे सात महीने का गर्भ है। उसकी गर्भपात कराने की तैयारी चल रही थी। आरोपी प्रेमी राजीव रंजन सिंह और उसकी बहन अंजलि ने अस्पताल में एडमिट कराया। अस्पताल के एडमिट पेपर पर राजीव ने अपना नाम विनोद सिंह बता कर खुद को पति बताया और अंजलि मां बनी थी।


गुरुवार से घर से लापता थी, मां ने दर्ज कराई थी थाने में शिकायत

नाबालिग गुरुवार से लापता थी। शुक्रवार को उसने मां को सूचना दी थी कि वो अपनी सहेली की विवाह में आई है। अगले दिन जब वह नहीं आई तो परिवार वालों ने बिरसानगर में नाबालिग के गायब होने की शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने गरूड़बासा निवासी राजीव कुमार सिंह को हिरासत में लेकर पूछताछ की। राजीव ने बताया कि लड़की को लाइफ लाइन अस्पताल में एडमिट कराया गया है। बिरसानगर थाना प्रभारी उपेंद्र सिंह अौर सूचना मिलने पर राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष कल्याणी शरण अस्पताल पहुंचीं।

पुलिस जांच में खुलासा हुआ कि पति और मां दोनों फर्जी हैं

नाबालिग की मां जिसने शुक्रवार की रात थाना में बेटी के गायब होने की शिकायत दर्ज कराई थी, उसने बेटी की पहचान कर ली। नाबालिग का गर्भपात कराने के लिए स्लाइन (दर्द होने वाला) चढ़ाया जा रहा था। महिला आयोग की अध्यक्ष लेबर रूम के अंदर गईं और स्लाइन को हटवाया। महिला आयोग के हस्तक्षेप के बाद गर्भपात रुकवा दिया गया। पुलिस जांच में खुलास हुआ कि फर्जी पति और मां दोनों फर्जी हैं। आरोपी युवक मां से समझौते के लिए दबाव बना रहा है। देर शाम नाबालिग की मां नर्सिंग होम गई थी।

लड़की बोली- मैंने राजीव से शादी कर ली है

पुलिस को दिए बयान में लड़की ने बताया कि उसने राजीव से 23 फरवरी 2017 में रंकिणी मंदिर में शादी कर ली है। जिसके बाद से वो उसके साथ मिलती जुलती थी। पुलिस के मुताबिक आरोपी राजीव के ऊपर टेल्को थाना में चेन छिनतई का आरोप दर्ज है। जेल भी जा चुका है।

अबॉर्शन की तैयारी करने वाली डॉक्टर फरार

नाबालिग जिस स्कूल में दसवीं की छात्रा है, उसी स्कूल में आरोपी की बहन टीचर थी। महिला आयोग और पुलिस के पहुंचने पर नर्सिंग होम के लेबर रूम में उक्त नाबालिग को बरामद किया। बिरसानगर थाना प्रभारी उपेंद्र सिंह जब अपनी टीम के साथ अस्पताल पहुंचे तो उन्हें प्रवेश करने से रोका गया। पुलिस कड़ाई से पेश आई तो उन्हें घुसने का मौका मिला। नाबालिग की मां के बयान पर देर शाम शादी के नाम पर झांसा देकर शारीरिक शोषण और गलत तरीके से गर्भपात कराने का मामला दर्ज किया गया है। उधर, नर्सिंग होम संचालक की मिलीभगत की बाते सामने आई है। छापा पड़ते ही डॉ पिंकी फरार हो गई।

महिला आयोग की अध्यक्ष ने कहा

कल्याणी शरण ने कहा कि अस्पताल प्रबंधन के रवैये और उनकी कार्यप्रणाली की जांच होनी चाहिए। सात माह के गर्भ होने पर गर्भपात के पूर्व कई कानूनी प्रक्रिया पूरी करनी होती है। उन्होंने कहा कि नाबालिग को न्याय मिलने तक वह इस केस को चुनौती के तौर पर लेंगी।

ट्यूशन के लिए घर से बोलकर निकली थी

बिरसानगर थाना में नाबालिग की मां ने शुक्रवार को लिखित शिकायत की थी। मां के अनुसार उसकी बेटी गुरुवार की सुबह ट्यूशन जा रही है बोलकर निकली थी। देर शाम तक अलग-अलग बहाना बताकर वह घर नहीं आई। उसका फोन भी स्विच ऑफ हो गया।

Minor Girl Abortion Case in jamshedpur
Minor Girl Abortion Case in jamshedpur
Minor Girl Abortion Case in jamshedpur
X
Minor Girl Abortion Case in jamshedpur
Minor Girl Abortion Case in jamshedpur
Minor Girl Abortion Case in jamshedpur
Minor Girl Abortion Case in jamshedpur
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..