--Advertisement--

सांसद की हत्या में बॉडीगार्ड का हथियार छीनने वाला नक्सली अरेस्ट, ये भी बरामद

हार्डकोर नक्सली राजेंद्र सिंह मुंडा उर्फ गुडरू उर्फ चंदन को मंगलवार की सुबह 4 बजे गिरफ्तार कर लिया गया।

Danik Bhaskar | Dec 27, 2017, 03:43 AM IST
पकड़े जाने के बाद पुलिस हिरासत में राजेन्द्र मुंडा। पकड़े जाने के बाद पुलिस हिरासत में राजेन्द्र मुंडा।

जमशेदपुर. 2007 में होली के दिन बाघुड़िया में सांसद सुनील महतो की हत्या के दौरान उनके बॉडीगार्ड का हथियार छीनने वाला आकाश दस्ते का हार्डकोर नक्सली राजेंद्र सिंह मुंडा उर्फ गुडरू उर्फ चंदन को मंगलवार की सुबह 4 बजे गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस ने सीआरपीएफ के जवानों के साथ एमजीएम थाना क्षेत्र की आमदा पहाड़ी में छापामारी की। भागने के दौरान राजेंद्र मुंडा को दबोच लिया गया।

जुटा था संगठन को मजबूत करने में

30 वर्षीय राजेंद्र को भाकपा माओवादी के पश्चिम बंगाल सचिव आकाश के दस्ते ने सब जोनल कमांडर की जवाबदेही दी थी। फरवरी 2017 में एक करोड़ के इनामी नक्सली कान्हू मुंडा के सरेंडर के बाद राजेंद्र संगठन मजबूत करने में लगा था। वह सरायकेला-खरसावां के चौका थाना के बालीडीह घाटदुलमी गांव का रहनेवाला है। पुलिस को जानकारी मिली थी कि आकाश अपने दस्ते के साथ आमदा पहाड़ी के पास आ सकता है। एएसपी (अभियान) प्रणव आनंद के नेतृत्व में सीआरपीएफ और पुलिस के जवानों ने पहाड़ी की घेराबंदी की। इस दौरान मुठभेड़ भी हुई। इस दौरान राजेंद्र पकड़ा गया। उसके पास घातक हथियार, विस्फोटक के साथ माओवादी साहित्य बरामद किया गया। एसएसपी अनूप टी मैथ्यू ने बताया कि राजेंद्र 12 साल से माओवादियों के साथ रह रहा है।

यह बरामदगी हुई

- 1 देसी लोडेड पिस्टल।

- 7.65 बोर की 5 गोली।

- एक मैगजीन।

- 4 बंडल कोटेक्स तार।

- 25 पीस डेटोनेटर।

- 35 पीस जेल।

- 125 ग्राम विस्फोटक।

एसएसपी अनूप टी मैथ्यू ने बताया कि लंबे समय से सब जोनल कमांडर राजेंद्र मुंडा की तलाश थी। कई महीने से उसका पीछा किया जा रहा था। सांसद सुनील महतो की हत्या में वह शामिल रहा है। पूछताछ शुरू हुई है। भाकपा माओवादी के कई राज मिल सकते हैं।

नक्सली कार्तिक मुंडा ने प. बंगाल में किया सरेंडर

गुड़ाबंदा थाना के जियान गांव में कान्हू मुंडा और साथियों के सरेंडर से ठीक पहले फरार हो जानेवाला नक्सली कार्तिक मुंडा उर्फ भीम सोरेन ने पश्चिम बंगाल के झाड़ग्राम में मंगलवार को आत्मसमर्पण कर दिया है। उसके आत्मसमर्पण में झारखंड और प. बंगाल सरकार की सहमति रही। राय सोरेन का पुत्र कार्तिक प.बंगाल के पश्चिम मिदनापुर जिला में कोतवाली थाना क्षेत्र के चीरूगोड़ा का रहनेवाला है। वह कान्हू मुंडा के दस्ते में शामिल था आैर गुड़ाबंदा का एरिया कमांडर रहा है। पुलिस उसकी गिरफ्तारी के लिए दबिश बना रखी थी। सरेंडर के बाद उसे दोनों सरकारों की सहमति के आधार पर सुविधाएं दी जाएंगी।

सरेंडर करता नक्सली कार्तिक मुंडा। सरेंडर करता नक्सली कार्तिक मुंडा।