--Advertisement--

छत से पुलिस पर पथराव और हंगामा, CCTV फुटेज से उपद्रवियों की पहचान की गई

धार्मिक स्थल पर बम फेंकने की अफवाह के बाद हंगामा और पत्थरबाजी।

Danik Bhaskar | Jan 28, 2018, 07:06 AM IST
बागबेड़ा में धार्मिक स्थल पर ब बागबेड़ा में धार्मिक स्थल पर ब

जमशेदपुर. परसुडीह के मकदमपुर में हुए उपद्रव के दौरान रात का अंधेरा और बिजली न होने के कारण पुलिस को दिक्कत हुई थी। जुगसलाई में दो समुदायों के बीच तनाव की सूचना पाकर एसएसपी अनूप टी मैथ्यू पहुंचे। उन्होंने घटना की याद दिलाते हुए डीसी अमित कुमार से कहा- सर जुगसलाई में बिजली नहीं कटनी चाहिए। इसका फायदा उपद्रवियों को पहचानने में मिलेगा। डीसी ने बिजली विभाग के अधिकारी को तुरंत फोन कर किसी भी स्थिति में बिजली नहीं कटने का आदेश दिया।

सीसीटीवी कैमरे में अाराेपियों की साफ तस्वीर रिकॉर्ड

- शनिवार को पुलिस ने घरों व दुकानों में लगे सीसीटीवी कैमरे से उपद्रवियों की पहचान शुरू की। सीसीटीवी कैमरे में पत्थरबाजों व उपद्रवियों की पहचान कर 6 आरोपियों को जेल भेज दिया गया। 21 को नामजद अभियुक्त बनाया गया है। 100 से अधिक लोगों पर केस किया गया। सीसीटीवी कैमरे में अाराेपियों की साफ तस्वीर रिकॉर्ड है।

- इधर, पुलिस जुगसलाई में शांति बहाल कर रही थी। पुलिस फोर्स की तैनाती में दुकानें खोली गईं। दूसरी ओर दोपहर करीब 12.30 बजे यह अफवाह फैल गई कि बागबेड़ा डीबी रोड में स्थित माहवारी शाह बाबा मजार की चहारदीवारी पर किसी ने बम फेंक दिया है, लेकिन सूचना गलत निकली।

- बागबेड़ा थाना प्रभारी रामयश प्रसाद पहुंचे। पुलिस ने छानबीन की। कहीं कोई चीज नहीं मिल पाई। इसके बावजूद एहतियातन दो जवानों को सुरक्षा पर लगाया गया है। जुगसलाई में दोपहिया वाहनों की जांच भी हुई।

पहले झगड़ा, फिर पथराव

गद्दी मोहल्ला मोड़ के पास गाना बजाने के मुद्दे पर विवाद शुरू हुआ। विवाद शांत हुआ ताे किसी ने मूर्ति खंडित होने की बात फैला दी। इस पर युवक भड़क गए और हो-हल्ला होने लगा। सूचना पाकर जुगसलाई पुलिस पहुंच गई। इसी दौरान गद्दी मोहल्ला की ओर से उपद्रवियों ने पथराव शुरू कर दिया। इस्लाम नगर के युवक भी वहां पहुंच गए थे। कुछ युवक हाथ में तलवार चमकाते हुए आगे बढ़े और पीछे से बाकी युवक पथराव कर रहे थे।

पथराव में फंसी पुलिस, जवान घायल

पूजा कमेटी के लोग पथराव करने वालों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर डिकोस्टा रोड पर मूर्ति रखकर गद्दी मोहल्ला के पास धरना पर बैठ गए। वायरलेस पर सूचना मिलने के बाद बिष्टुपुर थाना प्रभारी श्रीनिवास पहुंचे और युवकों को मूर्ति विसर्जन के लिए समझाया। युवकों ने कहा कि पहले गिरफ्तारी हो। इसके लिए पुलिस डिकोस्टा रोड की ओर बढ़ी तो उस आेर से पथराव होने लगा। पीछे से एक पक्ष के युवक पथराव करने लगे। पुलिस बीच में फंस गई। इस दौरान जवानों को चोटें भी आई। गाड़ी का शीशा टूट गया। इसके बाद एसएसपी अनूप टी मैथ्यू ने लाठी चार्ज का आदेश दे दिया। आधे घंटे तक पुलिस ने दौड़ा-दौड़ाकर उपद्रवियों की पिटाई की।

पुलिस ने मूर्ति का कराया फोटो

प्रतिमा को तोड़ने की अफवाह की तरह न फैले, इसे लेकर पुलिस ने विसर्जन के पूर्व मूर्ति का फोटो कराया। लाठी चार्ज के बाद सिटी एसपी प्रभात कुमार को सूचना मिली कि बागबेड़ा की ओर से भीड़ इक्कठा हो रही है। सिटी एसपी ने सेवा सदन अस्पताल के आगे बागबेड़ा को जोड़ने वाले मोड़ पर खुद मोर्चा संभाला। बागबेड़ा पुलिस को पूरे क्षेत्र में गश्ती करने और जुगसलाई को जोड़ने वाले सभी मोड़ पर पुलिस की तैनाती का आदेश दिया। हंगामा की सूचना मिलने के बाद ही अधिकतर दुकानों बंद हो गई। शटर गिर गए। युवकों के बीच मारपीट और पथराव के बाद पूरा जुगसलाई बाजार बंद हो गया। स्थिति तनावपूर्ण हो गई।

घटनाक्रम पर एक नजर (शुक्रवार)

शाम 6.30 बजे : जुगसलाई धर्मशाला के पास सरस्वती प्रतिमा विसर्जन के दौरान गाना बजाने को लेकर दो समुदायों में विवाद
6.45 बजे : युवकों में मारपीट
7.10 बजे : पूजा कमेटी के लोगों ने प्रतिमा डिकोस्टा रोड मोड़ पर रख दिया और गद्दी मोहल्ला मोड़ पर धरना पर बैठ गए
7.15 बजे : जुगसलाई थाना प्रभारी लक्ष्मण प्रसाद पुलिस बल के साथ पहुंचे
7.50 बजे : बिष्टुपुर थाना प्रभारी श्रीनिवास पहुंचे और भीड़ का समझाने लगे
रात 8.10 बजे : सिटी एसपी, डीएसपी लॉ एंड ऑर्डर पहुंचे, प्रतिमा विसर्जन के लिए पुलिस दो युवकों को साथ ले गई, बाकी लोगों को रोक दिया
8.45 बजे : डिकोस्टा रोड की अोर से दो युवक आए और पुलिस को पथराव की सूचना दी, पुलिस टीम पर छत से पथराव किया गया
8.50 बजे : पुलिस की गाड़ी और दो कार का शीशा तोड़ दिया गया
9.00 बजे : सिटी एसपी, डीएसपी डिकोस्टा रोड पर नीचे बस्ती की ओर गए और मामला शांत कराया
9.15 बजे : एसएसपी अनूप टी मैथ्यू डिकोस्टा चौराहा पहुंचे, भीड़ को 10 मिनट में हटने की चेतावनी दी
9.25 बजे : पूजा कमेटी के युवक लौट रहे थे कि पुलिस ने लाठी चार्ज कर दिया, दर्जनाें युवकों को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा
9.45 बजे : एसडीओ माधुरी मिश्रा पहुंची
10.00 बजे : स्थिति नियंत्रण में, पुलिस प्रशासन ने शांति बनाए रखने की अपील की
10.30 बजे : डीसी अमित कुमार, एडीएम सुबोध कुमार घटनास्थल पर पहुंचे
11.00 बजे : पुलिस-प्रशासन ने रैफ की एक कंपनी बुलाई
11.15 बजे : रैफ के जवानों ने क्षेत्र में फ्लैग मार्च किया
12.00 बजे : सभी मोड़ पर पुलिस तैनात, संवेदनशील रास्ते बंद किए गए
12.30 बजे : हर आने-जाने वालाें से पूछताछ शुरू
03.00 बजे : इलाके में तनाव बना रहा, पुलिस गश्त करती रही