--Advertisement--

ससुराल से वापसी के दौरान डबल मर्डर, मरने वाले रिश्ते में लगते थे साढ़ू

गुदड़ी के बुरुकायम हत्याकांड में शवों की शिनाख्त, लामडार व डिंडापाई के निवासी थे युवक, रिश्ते में साढ़ू भाई

Dainik Bhaskar

Jan 15, 2018, 08:31 AM IST
सोनुवा अस्पताल में इलाजरत मृतक के घायल चाचा व अन्य।  सोनुवा अस्पताल में इलाजरत मृतक के घायल चाचा व अन्य। 

सोनुवा(झारखंड). गुदड़ी थाना क्षेत्र के बुरुकायम गांव में हुई हत्या की घटना में मिले दो युवकों के शव की शिनाख्त रविवार को हुई। दोनों मृतक युवकों में से एक लामडार गांव निवासी सादो बरजो एवं दूसरा डिंडापाई गांव का मंगल चांपिया है। दोनों मृतक एक-दूसरे के साढ़ू भाई हैं। मृतक सादो की पत्नी महिला समिति की सचिव हैं एवं स्वच्छता अभियान के तहत शौचालय निर्माण के काम में सहयोग करती हैं। मंगल डारियो कमरोड़ा पंचायत के डिंडापाई गांव का वार्ड सदस्य भी था।


- सादो ने बड़ी बहन एवं मंगल ने छोटी बहन से शादी की थी। लामडार के एक युवक की जेब से आधार कार्ड की छायाप्रति मिलने पर पुलिस द्वारा छानबीन की गई। जिसके बाद सूचना मिलने पर दोनों मृतक की पत्नी एवं परिजन रविवार की सुबह सोनुवा थाना पहुंचे एवं पहचान की।

- इधर करीब चार बजे शव का पोस्टमार्टम कराकर पुलिस ने परिजनों को सौंपा। मंगलवार को मृतक सादो बरजो के घर बेटे का जन्म हुआ था। बेटे की छठिहारी की खबर देने सादो अपने साढ़ू मंगल के साथ शुक्रवार को डारियो कमरोड़ा पंचायत के कमरोड़ा गांव के पास स्थित चिंगी गांव अपनी ससुराल गए हुए थे। दोनों लामडार से बाइक से दोपहर करीब दो बजे निकले थे।

- दोनों शुक्रवार को लोढ़ाई में लगने वाले साप्ताहिक हाट पहुंचे एवं बाद में ससुराल गए थे। ससुराल में खबर देने के बाद वहां से वापस लौट रहे थे। वापसी के दौरान रास्ते में दोनों की हत्या हो गई।

- पुलिस के मुताबिक दोनों जिस बाइक से गए थे वह तलसदा के पास लावारिस हालत में देखी गई। जबकि दोनों का शव तलसदा से करीब पांच किलोमीटर दूर बुरुकायम में मिला।

हत्या के कारण पर सस्पेंस बरकरार
हत्या की घटना को किसके द्वारा अंजाम दिया गया है एवं क्यों इस पर अभी भी सस्पेंस बरकरार है। पुलिस इस घटना को नक्सली घटना मानने से साफ इंकार कर रही है। गुदड़ी थाना प्रभारी मनोज गुप्ता ने कहा कि यह नक्सली घटना नहीं है। घटना आपसी रंजिश, काम के सिलसिले या किसी अन्य कोई रंजिश का परिणाम हो सकती है। उन्होंने कहा कि मामले में छानबीन चल रही है एवं जल्द ही मामले का खुलासा हो जाएगा।

सोनुवा आने के क्रम में मृतक के परिजन सड़क हादसे के शिकार

दोनों मृतकों के परिजन शनिवार को सुबह सोनुवा थाना आ रहे थे। इस दौरान सोनुवा के पास वह सड़क हादसे का शिकार भी हो गए। जिसमें आठ लोग घायल हो गए। परिजन जिस टाटा मैजिक गाड़ी से आ रहे थे, वह पोड़ाहाट एवं सोनुवा के बीच बांझीकुसुम के पास निर्माणाधीन सड़क पर अनियंत्रित होकर पलट गई। इस घटना में दोनों मृतक की पत्नियां एवं बच्चे बाल-बाल बचे। इस घटना में मृतक मंगल का चाचा गुमान चांपिया का हाथ टूट गया। जबकि के मृतक सादो के भाई मंगरा बरजो के पैर में गंभीर चोट लग गई। मृतकों के अन्य परिजनों में साधू बरजो, कांडे भेंगरा, इलियास चांपिया, रेगा चांपिया, रमेश कंडूलना एवं सुखराम बरजो को भी चोट लगी है। सभी का सोनुवा अस्पताल में इलाज किया गया।

चार दिन के नवजात के सिर से पिता का उठा साया
सादो बरजो की हत्या होने से चार दिन पहले जन्म लिए बेटे के सिर से पिता का साया उठ गया। सादो की पत्नी एसरन सोय अपने चार दिन के नवजात को लेकर सोनुवा थाना अपने पति के शव की पहचान करने पहुंची थी। पति की मौत पर रोती-बिलखती एसरन बार-बार अपने बेटे को देखते हुए रो रही थी। एसरन की छोटी बहन एवं मंगल की पत्नी एलन सोय भी पति की मौत पर बिलख रही थी। दोनों सगी बहनों पर एक साथ दुखों का पहाड़ टूट गया।

थाना में मृतकों की पत्नियों से पूछताछ करते इंस्पेक्टर। थाना में मृतकों की पत्नियों से पूछताछ करते इंस्पेक्टर।
X
सोनुवा अस्पताल में इलाजरत मृतक के घायल चाचा व अन्य। सोनुवा अस्पताल में इलाजरत मृतक के घायल चाचा व अन्य। 
थाना में मृतकों की पत्नियों से पूछताछ करते इंस्पेक्टर।थाना में मृतकों की पत्नियों से पूछताछ करते इंस्पेक्टर।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..