--Advertisement--

झारखंड: तेज रफ्तार कार ने 2 परिवारों के 27 लोगों को कुचला; 6 की मौत, 12 गंभीर रूप से जख्मी

शादी की शगुन पूजा करने आए दो परिवारों को कुचलने वाली कार में बड़ी संख्या में शराब और बियर की बोतलें मिली हैं।

Danik Bhaskar | Mar 04, 2018, 01:19 AM IST
बेकाबू हुई लाल रंग की कार ने कई लोगों को अपनी चपेट में लिया। बेकाबू हुई लाल रंग की कार ने कई लोगों को अपनी चपेट में लिया।

चक्रधरपुर(जमशेदपुर). तेज रफ्तार कार ने एनएच-75 पर बोड़दा पुल के पास शनिवार रात विवाह शगुन पूजा कर रहे दो परिवारों के 27 लोगों को कुचल दिया। इनमें 6 लोगों की मौत हो गई। दर्जन भर लोग गंभीर रूप से घायल हैं। अन्य को मामूली चोटें आईं। कार चक्रधरपुर के ट्रांसपोर्टर प्रदीप अग्रवाल की है। घटना के वक्त प्रदीप के बेटे सौरव अग्रवाल उर्फ चुनमुन गाड़ी चला रहा था। वह नशे में था। हादसे के बाद भाग रहे सौरव को लोगों ने पकड़ लिया और जमकर पिटाई की। बाद में पुलिस उसे छुड़ाकर थाने लाई।

आरोपी विदेश में रहता है और अभी छुट्‌टी पर घर आया था

- हाटगम्हरिया इलाके के रहने वाले चमन पाट पिंगुवा की शादी सालभर पहले गोइलकेरा इलाके के दशमा हेंब्रम के साथ हुई थी। इसकी शगुन पूजा आदिवासियों की प्रथा के मुताबिक होना बाकी थी। इसी पूजा के लिए दोनों पक्षों के 27 लोग शनिवार को बोड़दा में जुटे थे। तभी लाल रंग की तेज रफ्तार कार उन्हें कुचलते हुए निकल गई। दो लोगों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि चार ने अस्पताल ले जाते समय दम तोड़ दिया।

पकड़े गए सौरव ने पी रखी थी शराब

जिस लाल रंग की कार जेएच 05क्यू 8387 ने पूजा कर रहे लोगो को रौंदा है वह कार चक्रधरपुर के ट्रांसपोर्टर सह बस ऑनर एसोसिएशन के सदस्य प्रदीप अग्रवाल की बताई जा रही है। कहा जा रहा है कि प्रदीप का बेटा सौर‌व अग्रवाल उर्फ चुनमुन कार ड्राइव कर रहा था। सौरव ने शराब पी रखी थी। बताया जा रहा है कि कार के अंदर बियर और की शराब की बोतलें थीं, जिसे पुलिस ने बरामद कर लिया है। घटना के बाद भाग रहे सौरव को लोगों ने पकड़ लिया और जमकर धुनाई की। बाद में पुलिस उसे लोगों से छुड़ा कर थाने ले आई। प्रदीप विदेश में ही रहता है। इन दिनों छुट्टी में घर आया हुआ था। आरोपी प्रदीप विदेश में रहता है और अभी छुट्‌टी पर घर आया था। कार में बड़ी संख्या में शराब और बियर की बोतलें मिली हैं।

बाइक खराब नहीं होती तो बच जाती सबकी जान

ऐरे बोंगा यानि शगुन की पूजा दिन में सूर्यास्त से पहले ही हो गई थी, लेकिन दूल्हे पक्ष की दो बाइक शाम को किसी कारणवश स्टार्ट नहीं हो रही थी, सबलोग गाड़ी स्टार्ट होने का इंतजार कर रहे थे। इसी चक्कर में खाना भी नहीं बना था। सबने योजना बनाई कि यहां से निकलकर कहीं और रास्ता में ही खाना पीना किया जाए। बलि दिए गए पशु-पक्षी भी साथ थे। दूल्हा चमन ने बताया कि पूजा के बाद सब लोग रोड पर बाइक ठीक होने का इंतजार कर रह रहे थे। उसी समय कार ने आकर सबको रौंद दिया। कार चक्रधरपुर के ट्रांसपोर्टर प्रदीप अग्रवाल की है। बताया जा रहा है कि घटना के वक्त उनका बेटा भी कार में था। देर रात स्थानीय विधायक शशिभूषण सामड़, डीसी और एसपी भी अस्पताल पहुंचे।

इनकी हुई मौत

1. लंकेश्वर पाट पिंगुवा

2. दिसंबर पाट पिंगुवा

3. सुखलाल हेंब्रम

4. रासिका पाट पिंगुवा

5. दुर्गा हेंब्रम

6. एक की शिनाख्त नहीं

प्रदीप अग्रवाल का बेटा जिसे लोगों ने पकड़कर पुलिस के हवाले किया प्रदीप अग्रवाल का बेटा जिसे लोगों ने पकड़कर पुलिस के हवाले किया
कार के अंदर बियर और की शराब की बोतलें थीं, जिसे पुलिस ने बरामद कर लिया है। कार के अंदर बियर और की शराब की बोतलें थीं, जिसे पुलिस ने बरामद कर लिया है।