जमशेदपुर

--Advertisement--

मंत्री-कांग्रेसी नेता भिड़े, महिलाओं के सामने अपशब्दों का प्रयोग

महिलाओं के सामने ही अपशब्दों का प्रयोग होने लगा। आयोजकों ने किसी तरह मामला संभाला।

Dainik Bhaskar

Dec 04, 2017, 05:51 AM IST
Use of abusive speech in front of women

रांची. शहर की यातायात व्यवस्था सुधारने के लिए रविवार को कोकर औद्योगिक क्षेत्र में एक अखबार के सभागार में परिचर्चा के दौरान नगर विकास मंत्री सीपी सिंह और कांग्रेसी नेता आपस में भिड़ गए। महिलाओं के सामने ही अपशब्दों का प्रयोग होने लगा। आयोजकों ने किसी तरह मामला संभाला।

परिचर्चा में नगर विकास मंत्री सीपी सिंह, मेयर आशा लकड़ा, डिप्टी मेयर संजीव विजयवर्गीय सहित कई व्यवसायी-उद्यमी और आम लोग मौजूद थे। कांग्रेस नेता और व्यवसायी प्रदीप तुलस्यान भी परिचर्चा में हिस्सा लेने के लिए लाव-लश्कर के साथ पहुंचे। उनके पहुंचते ही मंत्री सीपी सिंह ने चुटकी ली, आइए-आइए, कैसे समय मिल गया। ओ..आज तो दुकान बंद होगा। परिचर्चा शुरू हुई। प्रदीप तुलस्यान को यातायात व्यवस्था में सुधार के लिए सुझाव देने को कहा।

तुलस्यान अपनी बात रखने लगे। सरकार द्वारा आनन-फानन में लिए गए निर्णय पर सवाल उठाने लगे, तो मंत्री सीपी सिंह को नागवार गुजरा। टोका-टोकी करने लगे। फिर क्या था, तुलस्यान बिफर पड़े। उन्होंने मंत्री को चुप रहने को कहा, तो वे और टिप्पणी करने लगे। देखते ही देखते मामला बिगड़ गया। महिलाओं की उपस्थिति में ही अपशब्दों का भी प्रयोग होने लगा। आयोजक परेशान हुए। तुलस्यान गुस्से में आग-बबूला हो गए। मंत्री सीपी सिंह को उनकी औकात बताने लगे। कहने लगे, आप क्या थे हमको नहीं पता है क्या। दो कौड़ी का आदमी आज सत्ता के नशे में है। सीपी सिंह ने ऊंगली दिखाते हुए उन्हें धमकाया, कहा चुप रहिए। तुलस्यान ने कहा, वे कांग्रेस नेता की हैसियत से नहीं आए हैं, शहर के आम नागरिक की हैसियत से सुझाव देने आए हैं। मंत्री जी सरकार की दलाली मत करिए, क्या हो रहा है जनता देख रही है। फिर तो ऐसा शोर मचा कि कौन -क्या बोल रहा है, पता ही नहीं चला। आयोजकों ने तुलस्यान को किसी तरह सभागार से बाहर किया।

X
Use of abusive speech in front of women
Click to listen..