• Home
  • Jharkhand
  • Jamshedpur
  • इलेक्ट्रॉनिक कचरे के निष्पादन के बारे में विद्यार्थियों ने जाना
--Advertisement--

इलेक्ट्रॉनिक कचरे के निष्पादन के बारे में विद्यार्थियों ने जाना

सिटी रिपोर्टर

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 02:30 AM IST
सिटी रिपोर्टर
राष्ट्रीय धातुकर्म प्रयोगशाला (एनएमएल) जमशेदपुर में इलेक्ट्रॉनिक वेस्ट पर चल रहा दो दिवसीय ट्रेनिंग प्रोग्राम बुधवार को सम्पन्न हो गया। स्किल ट्रेनिंग के तहत आयोजित इस प्रोग्राम में युवाओं को इलेक्ट्रॉनिक कचरे के निष्पादन के बारे में बताया गया।

समापन समारोह को संबोधित करते हुए एनएमएल के एडवाइजर मैनेजमेंट डॉ. राकेश कुमार ने कहा कि इलेक्ट्रॉनिक वेस्ट का निष्पादन पर्यावरण सुरक्षा के लिए जरूरी है। देश में इसके निष्पादन का कोई ढ़ाचा नहीं है। डॉ.अमिताभ मित्रा ने कहा कि इस क्षेत्र में रोजगार की असीम संभावनाएं है। इसके लिए देश में हजारों कुशल युवाओं की फौज खड़ी करनी होगी, जो इलेक्ट्रॉनिक कचरे के निष्पादन में सहायक हो। बरूण भट्टाचार्या ने कुवैत में ई वेस्ट मैनेजमेंट के क्षेत्र में संभावनाओं को बताया। उन्होंने कहा कि जिस कदर से इलेक्ट्रॉनिक सामान का उपभोग बढ़ रहा है, उससे उसके निष्पादन की चुनौतियां बढ़ती जा रही है। इलेक्ट्रॉनिक कचरे से निकलने वाले रसायन से विभिन्न रोग हो रहे हैं। डॉ.मीता तरफदार ने इस प्रोग्राम के बारे में बताया। अंत में सभी प्रतिभागियों को प्रमाण पत्र दिया गया। इस ट्रेनिंग प्रोग्राम में टाटा स्टील समेत एनआईटी जमशेदपुर, आईआईटी खड़गपुर, मिसेज केएमपीएम वोकेशनल कॉलेज आदि के छात्रों ने हिस्सा लिया।