जमशेदपुर

  • Hindi News
  • Jharkhand
  • Jamshedpur
  • फूलों से कब्र सजाया, कैंडल जला पूर्वजों को किया याद
--Advertisement--

फूलों से कब्र सजाया, कैंडल जला पूर्वजों को किया याद

प्रभु यीशु के पुनर्जीवित होने की खुशी में रविवार को ईसाई समुदाय के लोगों ने ईस्टर मनाया। इस दौरान मसीही समाज के...

Dainik Bhaskar

Apr 02, 2018, 02:40 AM IST
फूलों से कब्र सजाया, कैंडल जला पूर्वजों को किया याद
प्रभु यीशु के पुनर्जीवित होने की खुशी में रविवार को ईसाई समुदाय के लोगों ने ईस्टर मनाया। इस दौरान मसीही समाज के लोग शहर के विभिन्न कब्रिस्तानों में सुबह तीन बजे जुटे और प्रभु के जन्म की खुशियों का इजहार किया। कब्रगाहों को फूलों से सजाया गया और कैंडल जलाकर विशेष प्रार्थना की गई। लोगों ने अपने पुरखों के लिए भी विशेष प्रार्थना की। इसके बाद वे शहर के विभिन्न गिरजाघरों में गए, जहां विशेष प्रार्थना सभा का आयोजन किया गया। इसमें हजारों की संख्या में लोग शामिल हुए और यीशु के पुनर्जन्म का संदेश सुना। इस दौरान चर्च में मिस्सा बलिदान दिया गया। पर्व की खुशियां लोगों ने एक-दूसरे के साथ मिलकर बांटी।

ईस्टर के अवसर पर सुबह छह बजे से मसीही समाज के लोगों की भीड़ गिरजाघरों में उमड़ने लगी थी। सुबह में सभी लोगों ने प्रभु यीशु के पुनर्जन्म की खुशी में एक-दूसरे को बधाई दी। मालूम हो कि प्रभु यीशु मसीह को शुक्रवार के दिन क्रूस पर चढ़ाया गया था। ऐसा कहा जाता है कि तीसरे दिन रविवार को प्रभु यीशु फिर जीवित हो उठे थे और अपने अनुयायियों को दर्शन दिए थे।

ईसाई समाज पुनरुत्थान में विश्वास करता है : फादर डेविड

गोलमुरी चर्च में फादर जिल्सन ने विशेष प्रार्थना की और बाइबिल का पाठ कर प्रभु के आगमन का संदेश दिया। वहीं, बारीडीह स्थित मर्सी चर्च में फादर डेविड विंसेंट ने संदेश पढ़ा। उन्होंने कहा कि ईसाई समाज पुनरुत्थान पर विश्वास करता है। इसलिए किसी भी परिस्थिति से घबराने की जरूरत नहीं है। कैसे हमारा पुनरुत्थान होगा सिर्फ यह सोचने की जरूरत है। वहीं, चर्चों में मिस्सा बलिदान के बाद प्रभु यीशु ख्रीस्त के मरण, दु:ख भोग, पुनरुत्थान द्वारा मानव जाति को पाप और मृत्यु के साथ बुराइयों से मुक्ति प्रदान करने की खुशी में मुक्ति समारोह मनाया गया। प्रार्थना सभा में फादर ने कहा कि ईस्टर आनंद और खुशी का संदेश देता है। यीशु मसीह ने मृत्यु पर विजय पाई है। वे तीनों लोकों पर विजय पाकर हमारे बीच में विद्यमान हुए हैं। वे सभी का कल्याण करते हैं, हमें सिर्फ प्रभु का स्मरण करते हुए सही मार्ग पर चलते रहना चाहिए।

बेल्डीह कब्रिस्तान में पूर्वजों को याद करते लोग।

बेल्डीह में पूर्वजों की कब्र पर कैंडल जलाती बच्ची।

बेल्डीह, बाबूडीह और करनडीह में जुटी भीड़

ईस्टर पर शहर के बेल्डीह, बाबूडीह और करनडीह कब्रिस्तान में लोगों की भीड़ तड़के ही उमड़ी। मसीही समाज के लोगों ने कब्रिस्तान को मोमबत्ती जलाकर रोशन किया। प्रभु के कब्र से बाहर आने की खुशी में रोशनी जलाई गई। पादरी के नेतृत्व में तीनों कब्रिस्तानों में सुबह चार बजे प्रार्थना सभा हुई और बाइबिल में प्रभु के वचन को दोहराया गया। प्रभु के पुनर्जन्म का संदेश भी दिया गया।

X
फूलों से कब्र सजाया, कैंडल जला पूर्वजों को किया याद
Click to listen..